इंफोग्राफ : बाग ....हादसों में जान गंवाने वालों का आंकड़ा अर्द्धशतक के पार

जागरण संवाददाता, बागपत : जिले की सड़कें खून से लाल हो रही हैं। पुलिस और परिवहन विभाग हादसों को रोकने में नाकाम हैं। हादसों में जान गंवाने वालों का आंकड़ा अर्द्धशतक पार कर गया है। एक जनवरी से 21 मई तक 111 सड़क दुर्घटनाओं में 70 लोग घायल तथा 60 लोगों की मौत हुई। चमरावल गांव के स्कूल में हुई मासूम बच्चे की मौत पर बवाल हुआ, तो जिले में स्कूली वाहनों की जांच पड़ताल हुई। इसमें 183 खटारा बसें मिलीं। इससे साफ हो गया है कि जिले में खटारा व डग्गामार वाहनों की भरमार है। हाल ही में 19 मई को राष्ट्र वंदना चौक पर रोडवेज की अनुबंधित बस ने युवती मीनू को कुचल दिया। इस घटना से यातायात पुलिस की अव्यवस्थाओं की पोल खुली।

हादसों का विवरण

वर्ष 2022, वर्ष 2021, वर्ष 2020

माह, हादसे घायल मौत, हादसे घायल मौत, हादसे घायल मौत

जनवरी, 19 8 12, 14 7 7, 20 16 13

फरवरी, 29 12 18, 22 18 15, 15 18 5

मार्च, 31 25 15, 37 28 20, 11 11 4

अप्रैल, 14 10 5, 23 20 14, 5 7 2

मई, 18 15 10, 6 5 4, 8 4 4

----------------------------

पुलिस ने वर्ष 2022 में किए चालान

उल्लंघन जनवरी फरवरी मार्च अप्रैल मई

हेलमेट 121 85 141 608 355

सीट बेल्ट 195 44 165 183 167

ड्राइविंग लाइसेंस 120 56 127 245 243

टू व्हीलर पर तीन यात्री 174 385 387 427 406

नंबर प्लेट 8 11 17 45 35

प्रदूषण 7 13 15 53 42

------

पुलिस ने वर्ष 2021 में किए चालान

उल्लंघन जनवरी फरवरी मार्च अप्रैल मई

हेलमेट 9्र23 846 470 897 424

सीट बेल्ट 569 582 589 825 295

ड्राइविंग लाइसेंस 421 444 448 532 232

टू व्हीलर पर तीन यात्री 117 85 62 45 11

नंबर प्लेट 45 64 84 54 36

प्रदूषण 6 4 3 4 3

(नोट : मई माह के आंकड़े अनुमानित)

-------

बागपत में हैं 22 ब्लैक स्पाट, देखिए कहां-कहां

दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे पर : ग्राम मवीकलां, काठा, पाली, रिवर पार्क, पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस, सिसाना, गौरीपुर मोड़, नैथला मोड़, गुफा वाले बाबा का मंदिर, सरूरपुर कलां, खेड़की, कस्बा बड़ौत का दिल्ली बस स्टैंड, बावली, जिवाना टोल।

बड़ौत-मेरठ रोड पर : ग्राम बरनावा

बड़ौत-मुजफ्फरनगर रोड पर : ग्राम बिजरौल

खेकड़ा-रटौल रोड पर : कस्बा रटौल पुलिया

दोघट-रमाला रोड पर : ग्राम बामनौली मंदिर, बामनौली पुल से ग्राम आदमपुर मोड़

दोघट-पुसार रोड पर : कांहड़ से पुसार रोड

भड़ल-सरोरा रोड पर : गैडबरा मोड़ ग्राम भड़ल

जानिए किस वजह से कितने हुए हादसे

:: यातायात नियम तोड़ने पर 90 प्रतिशत हादसे

:: ओवरस्पीड की वजह से 40 प्रतिशत हादसे

:: गलत दिशा में वाहन चलाने पर 11.7 प्रतिशत हादसे

:: ब्लाक स्पाट पर 40 प्रतिशत हादसे

:: वाहन चलाते समय मोबाइल इस्तेमाल पर 11.5 प्रतिश हादसे

:: मद्यपान करके वाहन चलाने पर 10.6 प्रतिशत हादसे

:: नींद में वाहन चलाने, सड़क पर कम दिखाई देने, इंजीनियरिंग दोष से 26.8 प्रतिशत हादसे

:: हादसों में 90 प्रतिशत जान पुरुषों की गई, इनमें 60 प्रतिशत युवा हैं

(एआरटीओ सुभाष राजपूत के मुताबिक)

-----

इन्होंने कहा

सड़क दुर्घटना रोकने के लिए आमजन को ट्रैफिक नियमों के प्रति जागरूक किया जाता है। नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाती है।---

मनीष कुमार मिश्र, एएसपी

सड़क पर चलते समय यातायात के नियमों का पालन करें। लापरवाही से दुर्घटना होती है। अभियान चलाकर आमजन को यातायात नियमों के प्रति जागरूक किया जाता है।

सुभाष राजपूत, एआरटीओ

Edited By: Jagran