बागपत, जेएनएन। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर घर-घर में योग हुआ। योग के जरिए निरोग रहने का मंत्र दिया गया। अफसरों ने सरकारी आवासों और गणमान्य लोगों ने घरों व पार्को में शारीरिक का पालन करते हुए योगिक क्रियाएं की। बच्चों से लेकर बड़ों तक योग के रंग में रंगा हुआ था। सेहतमंद शरीर के लिए योग करने का लोगों ने संकल्प लिया। साधकों ने योग करते हुए फोटो और वीडियो को इंटरनेट मीडिया पर वायरल किए।

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर सोमवार को डीएम राजकमल यादव ने कैंप कार्यालय पर योग किया। जनता तक संदेश पहुंचाया है। योग को जिदगी का अभिन्न अंक बनाए। योग करने से न सिर्फ शरीर में चुस्ती-फुर्ती आती है, बल्कि बीमारियों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। मानसिक और शारीरिक रूप मजबूती मिलती है। सुबह के समय हर व्यक्ति को कुछ मिनट योग अवश्य करना चाहिए। बागपत भाजपा विधायक योगेश धामा ने दिल्ली अपने आवास पर और भाजपा जिलाध्यक्ष ने अपने गांव में योग किया। सीडीओ अभिराम त्रिवेदी, सीएमओ, डीडीओ हुबलाल, डिप्टी सीएमओ डा. यशवीर, डीआइओएस सर्वेश कुमार, बीएसए राघवेंद्र सिंह, उप कृषि निदेशक प्रशांत कुमार ने स्वजन के साथ आवास पर योग किया। योगाचार्य राकेश आर्य ने 67 परिवार को आनलाइन योग कराया। सभी को योग करने के लिए जागरूक किया। और जो व्यायाम है उसमें काफी पैसे खर्च होते है, लेकिन योग विद्या निशुल्क शरीर को शक्तिमान बनाती है। प्रज्ञा योग केंद्र बिचपड़ी में योगाचार्य तिलकराम वशिष्ठ ने साधकों को योगाभ्यास कराया। योगाचार्य सुशील त्यागी, योगेंद्र, योग प्रचारक विनेश, जिला युवा प्रभारी प्रदीप कुमार ने भी साधकों को योग कराया। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर जिले में घर-घर में लोगों ने योग किया। अधिकारियों ने अपने कैंप कार्यालय पर योगिक क्रियाएं की और इंटरनेट मीडिया पर फोटो को अपलोड किया। दिन पर इंटरनेट मीडिया पर योग की फोटो वायरल होती रही। नेहरू युवा केंद्र ने मीतली में वद्धाश्रम में बुजुर्गो के साथ योग किया।

----------

110 ने किया प्रतियोगिताओं के लिए आवेदन

क्षेत्रीय आयुर्वेद एवं यूनानी अधिकारी और योग के नोडल डा. एमके कौशिक ने बताया कि केन्द्रर, राज्य और जिला स्तर पर योग दिवस चैंलेंज प्रतियोगिता हुई। योग वीडियो, योग कला एवं योग क्विज प्रतियोगिता हुई। इन सभी में 110 लोगों ने आवेदन किया है, जो लिक जारी किया गया उस पर भी आवेदन हुए है। लेकिन उसकी जानकारी हमे नहीं है। प्रतियोगिता की चार श्रेणियां बनाई गई हैं, जिसमें पांच वर्ष से 18 वर्ष, 18 वर्ष से 40 वर्ष, 40 से 60 वर्ष से 60 से अधिक वरिष्ठ नागरिक प्रतियोगिता में प्रतिभाग कर सकते हैं।

Edited By: Jagran