बागपत, जेएनएन। बड़ौत में पहले पुलिस-प्रशासन ने शांति समिति की बैठक में साफ निर्देश दिए थे कि ईद-उल-अजहा पर कुर्बानी के बाद पशुओं के अवशेष खुले में न फेंके जाएं, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और कुर्बानी के बाद शहर के बाहर सराय रोड पर खुले में ही सड़क किनारे काफी पशुओं के अवशेष फेंक दिए गए। यहां से चंद कदम दूरी पर धार्मिक स्थल भी है। राहगीरों को बदबू का सामना करना पड़ा तो सूचना हिदू जागरण मंच के पदाधिकारियों तक पहुंची। मंच के युवा जिलाध्यक्ष नितिन जैन ने फोटो समेत मुख्यमंत्री, डीएम और एएसपी को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। मौके पर मधुसूदन शास्त्री, जिलाध्यक्ष अंकित बड़ौली, हरेंद्र बालियान, अमन गुप्ता, जयकुमार तोमर, सुनील मान, अमन शर्मा आदि पहुंचे और अवशेषों को उठाने की मांग की। उसके बाद नगर पालिका के कर्मचारियों ने जेसीबी मशीन से अवशेषों को उठाकर उन्हें जमीन में दबा दिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस