बागपत, जेएनएन। बावली गांव में सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान पर अनियमितता और स्टाक कम होने की शिकायत पर आपूर्ति विभाग ने मौके पर पहुंचकर जांच की, जिसमें स्टाक पूरा मिला। इस दौरान मौके पर जमा हुए ग्रामीणों ने राशन डीलर और आपूर्ति विभाग के अधिकारियों में मिलीभगत होने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामला शांत कराया।

बुधवार को आपूर्ति निरीक्षक राहुल पटेल के नेतृत्व में टीम गांव पहुंची और स्टाक की जांच की। जांच में स्टाक पूरा मिला। अधिकारियों के आने की सूचना पर ग्रामीणों की भीड़ भी मौके पर जमा हो गई और आपूर्ति विभाग के अधिकारियों पर राशन डीलर से मिलीभगत करने का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। मौके पर पहुंचे ग्राम प्रधान गौरव ने बताया कि राशन डीलर सालों से कालाबाजारी में लिप्त है,जिसकी शिकायतें आए दिन कार्डधारक करते रहते हैं। कार्डधारकों को पूरा राशन नहीं दिया जा रहा। यदि कोई कार्डधारक शिकायत करता है, तो उसे राशन न देने की धमकी दी जाती है। आरोप लगाया कि जैसे ही राशन डीलर की शिकायत ग्रामीण आपूर्ति विभाग को करते है, तो विभागीय अधिकारी गांव में पहुंचने से पहले ही राशन डीलर को आने की सूचना दे देते हैं, तब तक राशन डीलर अन्य डीलरों से मिलीभगत कर अपना स्टाक पूरा कर लेता है। सूचना पर पुलिसकर्मी भी मौके पर पहुंचे और लोगों को शांत किया।

हाईकोर्ट बेंच की मांग को लेकर अधिवक्ताओं ने किया प्रदर्शन

संवाद सहयोगी, बड़ौत : केंद्रीय संघर्ष समिति पश्चिमी उत्तर प्रदेश के आह्वान पर बुधवार को अधिवक्ताओं ने तहसील परिसर में पश्चिम उत्तर प्रदेश में बेंच की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया और रजिस्ट्री कार्यालय पर तालाबंदी की।

रेवेन्यू बार एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष आनंदपाल तोमर के नेतृत्व में अधिवक्ता ने कचहरी परिसर में एकत्रित हुए और मांगों को लेकर नारेबाजी की। इस दौरान अधिवक्ताओं ने न्यायिक कार्यों का बहिष्कार करते हुए रजिस्ट्री कार्यालय पर तालाबंदी की। अधिवक्ताओं ने प्रदर्शन किया। अधिवक्ताओं ने कहा कि केंद्र सरकार को जनता को सस्ता व सुलभ न्याय देने के लिए पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अविलंब हाई कोर्ट बेंच देनी चाहिए। इस संबंध में मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन एसडीएम सुभाष सिंह को सौंपा गया। प्रदर्शन करने वालों में पूर्व अध्यक्ष धर्मवीर सिंह, सतपाल, वीरेंद्र शर्मा, रोहित, विनोद कुमार, अमित वशिष्ठ, दिनेश शर्मा आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran