बागपत, जेएनएन। किसान रणवीर की हत्या के मामले में स्वजन ने हिस्ट्रीशीटर का नाम शामिल करने और आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए मर्चरी के पास हंगामा किया। पुलिस ने उनको शांत किया। बाद में हिस्ट्रीशीटर का केस में नाम शामिल किया गया।

ग्राम जिवाना के अनुसूचित जाति के 40 वर्षीय किसान रणवीर की गुरुवार शाम गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उनके भाई राहुल ने गांव के ही दूसरी जाति के किसान राजकुमार, उनके बेटे विशु व एक अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने थोड़ी देर बाद ही आरोपित राजकुमार को गिरफ्तार कर लिया था। गुरुवार को रणवीर के शव का पोस्टमार्टम न होने और मर्चरी के दरवाजे बंद होने पर स्वजन नाराज हो गए। बाद में हिस्ट्रीशीटर का केस में नाम शामिल न करने पर स्वजन ने हंगामा किया। सीओ अनुज मिश्रा, रमाला थाना प्रभारी रवेंद्र कुमार व बागपत कोतवाली प्रभारी एनएस सिरोही ने उनको समझा-बुझाकर शांत किया। बाद में किसान रणवीर के भाई राहुल ने एसपी को लिखे पत्र को पुलिस अफसरों को सौंपकर बताया गया कि उनके भाई की हत्या करने में हिस्ट्रीशीटर मयंक शामिल रहा है। आरोपित मयंक ने उनको धमकी दी थी कि उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया तो जान से मार दिया जाएगा। दहशत में उसने तहरीर में अज्ञात में नाम दर्शाया था। अब केस में हिस्ट्रीशीटर मयंक का नाम शामिल किया जाए।

उधर, रमाला थाना प्रभारी रवेंद्र कुमार का कहना है कि हिस्ट्रीशीटर मयंक का नाम केस में शामिल कर लिया गया है। आरोपित मयंक व विशु की गिरफ्तार के लिए संभावित स्थानों पर दबिश दी जा रही है। गिरफ्तार आरोपित राजकुमार की निशानदेही पर तमंचा बरामद किया गया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप