बागपत, जेएनएन। शहर के चर्चित प्रदीप आत्रेय हत्याकांड के फरार आरोपित को पुलिस ने उसके साथी के साथ गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित था और वह घटना के बाद से ही फरार था।

इंस्पेक्टर एमएस गिल ने बताया कि नौ अक्टूबर 2020 को शहर के बिनौली रोड पर सीमेंट व्यवसायी प्रदीप आत्रेय को बदमाशों ने उनकी ही दुकान पर लूट का विरोध करने पर गोली मार दी थी। बदमाश दुकान से 82 हजार रुपये लूट ले गए थे। घटना के कई दिन बाद प्रदीप आत्रेय ने उपचार के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया था।

इंस्पेक्टर एमएस गिल ने बताया कि इस घटना में बामनौली गांव का रहने वाला नितिन पुत्र कालूराम था। उस पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित था। पुलिस ने बिजरौल रोड से नितिन और उसके साथी सागर पुत्र हरेंद्र निवासी बामनौली को गिरफ्तार कर लिया था। दोनों को अदालत से जिला कारागार भेज दिया गया। नितिन के खिलाफ नौ और सागर के खिलाफ दो मुकदमे दर्ज हैं।

फौजी हत्याकांड : दो आरोपित और गिरफ्तार, जेल भेजे

जागरण संवाददाता, बागपत : फौजी रामकुमार की हत्या के मामले में पुलिस ने दो और आरोपितों को गिरफ्तार किया। उन्हें न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया। इस घटना में पूर्व में चार आरोपितों को जेल भेजा जा चुका है।

ग्राम बुढ़सैनी में गत नौ जनवरी को ग्राम प्रधान अजय यादव के तहेरे भाई एवं आर्मी के हेड क्लर्क रामकुमार उर्फ बबलू की सुरेंद्र शर्मा पक्ष ने गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इसके विरोध में बवाल हुआ है। सरकारी रास्ते को लेकर ग्राम प्रधान अजय यादव और सुरेंद्र शर्मा पक्ष में पिछले दो माह से विवाद चल रहा था। पंचायत में विवाद का निपटारा होने के बावजूद सुरेंद्र पक्ष ने वारदात की थी। ग्राम प्रधान अजय यादव ने बालैनी थाने में सात नामजद व दो अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था।

बालैनी थाना प्रभारी कौशलेंद्र सिंह का कहना है कि नामजद आरोपित शिवदत्त शर्मा और शिवम शर्मा को शुक्रवार देर शाम बड़ागांव के मंदिर के पास से गिरफ्तार किया गया।

Edited By: Jagran