बागपत, जेएनएन। पूर्वांचल के माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी हत्याकांड की जांच को सीबीआइ टीम ने जेल की हाई सिक्योरिटी बैरक खुलवाकर घटनास्थल तथा गटर को देखा। हत्या के बाद इसी गटर से पिस्टल व कारतूस बरामद हुए थे। सीबीआई ने डॉन हत्याकांड में तत्कालीन जेलर, डिप्टी जेलर संग विवेचक को जेल पर बुलाकर घटना के संबंध में जानकारी जुटाई। हत्या के समय के जेल रिकार्ड भी टीम खंगाल रही है। घंटों पड़ताल के दौरान सीबीआई ने कई बंदियों से भी पूछताछ की। प्रेम प्रकाश उर्फ मुन्ना बजरंगी हत्याकांड में पुलिस ने होमवर्क शुरू कर दिया है। दो दिन तक हाई सिक्योरिटी बैरक व उक्त गटर की भी बारिकी से जांच की यहां से पिस्टल व कारतूस बरामद हुए थे।

गुरूवार को सीबीआई ने तत्कालीन जेलर उदय प्रताप सिंह, डिप्टी जेलर शिवाजी यादव, इंस्पेक्टर शिव प्रकाश सिंह व एसएसआई राजनीश कुमार को भी जेल पर पूछताछ के लिए बुलाया। सभी से अलग-अलग पूछताछ की। साथ ही घटना के दौरान मुलाकात के रिकार्ड आदि भी टीम ने खंगालने में जुटी है। सूत्रों की मानें तो टीम ने जेल में ही अपने आफिस के लिए कमरा भी लिया है। यहां टीम ने कई बंदियों से भी घटना के बारे में जानकारी जुटाई। सुबह 11 बजे के आसपास पहुंची टीम समाचार लिखे जाने तक जेल पर ही पूछताछ व रिकार्ड खंगालने में लगी थी। टीम के जेल में होने से स्टाफ ने भी सख्ती बढ़ा दी है। किसी भी बंदी के सामान को बिना चेक किए अंदर नहीं जाने दिया जा रहा है।

मुन्‍ना को जेल के अंदर गोलियों से भूना था

बड़ौत के पूर्व विधायक लोकेश दीक्षित व उनके भाई नारायण दीक्षित से रंगदारी मांगने के मामले में झांसी जेल में बंद माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी को बी-वारंट पर अदालत में पेश करने के लिए आठ जुलाई 2018 को पुलिस बागपत लेकर आई थी। नौ जुलाई की सुबह करीब साढ़े छह बजे जेल में ही मुन्ना की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। जेल में बंद कुख्यात सुनील राठी ने हत्या करना कबूला था। उसकी निशानदेही पर जेल के सेफ्टी टैंक से एक पिस्टल, दो मैगजीन व 22 कारतूस बरामद हुए थे। खेकड़ा थाने में तत्कालीन जेलर यूपी सिंह ने अभियुक्त सुनील राठी के खिलाफ मुकदमा कराया था। वहीं, बजरंगी की पत्नी सीमा ने जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह, रिटायर्ड डिप्टी एसपी जेएम सिंह, प्रदीप उर्फ पीके (पुत्र जेएम सिंह), महराज सिंह व विकास उर्फ राजा पर पति की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया था।

यह भी पढ़े: मुन्‍ना बजरंगी हत्‍याकांंड की परतें खोलने बागपत जेल पहुंची सीबीआइ की टीम

Posted By: Taruna Tayal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस