बागपत, जेएनएन। भारत की सीमा पर लगातार आतंकी हमलों को लेकर जमीयत उलेमा ए हिंद के महासचिव मौलाना महमूद मदनी भी काफी हैरान हैं। बागपत में आज उन्होंने एक सभा में पाकिस्तान को काफी तीखी चेतावनी दी है।

जमीयत उलेमा ए हिंद के महासचिव मौलाना महमूद मदनी ने कहा कि भारत के खिलाफ लगातार साजिश रचने वाले दुश्मन हमको किसी भी तरह से कमजोर समझने की कोशिश भी न करें। अगर पाकिस्तान अपनी हरकत से बाज नहीं आया तो हम उसका अच्छे से इलाज कर देंगे। मदनी बागपत में जमीअत उलमा हिंद के भारत स्काउट एंड गाइड के कार्यक्रम में शामिल थे।

इससे पहले उन्होंने कहा था कि भारत का मुसलमान हमेशा से कश्मीर के अलगाव के खिलाफ रहा है। हम जानते है कि कश्मीर हमारा है, हमारा ही रहेगा। मगर हमें कश्मीर के लोगों व कश्मीरियत को भी अपनाना होगा।

मीडिया ट्रायल से आतंकी नहीं माना जा सकता

मौलाना ने कहा कि महज मीडिया ट्रायल या पुलिस के कह देने भर से किसी को आतंकी नही माना जा सकता, जब तक कि उसे कोर्ट से सजा न मिल जाये। जमीअत ने पहले भी ऐसे युवाओं के केस लड़े हैं, और उन्हें बाइज्जत रिहा कराया है।

मदनी ने कहा कि मुसलमान कहीं बाहर से नहीं आए। हमारे पुरखों ने भी मुल्क को संवारा है। उनके पास मौके भी थे। बावजूद इसके उन्होंने धर्म की बुनियाद पर बन रहे पाकिस्तान के विचार को खारिज किया। 70 साल हो गए, हम तीसरी पीढ़ी हैं। तब से लेकर अब मुसलमान वतनपरस्ती पर सफाई देता फिर रहा है। उन्होंने कहा कि पुलवामा जैसे कायराना हमले को भी मुसलमानों से जोड़कर उन्माद फैलाने की कोशिश की जा रही है। ऐसे दौर में हमें साफ जेहन की जरूरत है। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस