Move to Jagran APP

I.N.D.I.A. या NDA मुस्लिम वोटर्स का झुकाव किस ओर? BJP से गठबंधन का RLD के वोटों पर पड़ा ये असर

वर्ष 2019 में जयन्त चौधरी भले हार गए थे। तब उन्हें मुस्लिमों की एकतरफा वोट मिलने से रालोद और भाजपा में महज 23 हजार वोट का मामूली अंतर था। अब वर्ष 2024 के चुनाव ऐन वक्त पर जयन्त चौधरी के भाजपा से हाथ मिलाने से राजनीतिक गलियारों में मुस्लिमों की रालोद से छिटकने की चर्चा आम थी। आइए अब मतगणना परिणाम से जानते हैं

By Jaheer Hasan Edited By: Aysha Sheikh Published: Sun, 09 Jun 2024 01:01 PM (IST)Updated: Sun, 09 Jun 2024 01:01 PM (IST)
I.N.D.I.A. या NDA मुस्लिम वोटर्स का झुकाव किस ओर? BJP से गठबंधन का RLD के वोटों पर पड़ा ये असर

जहीर हसन, बागपत। बेशक भाजपा का साथ मिलने से डा. राजकुमार सांगवान लोकसभा पहुंचने में सफल रहे लेकिन मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में रालोद की सियासी जमीन खिसक चुकी है। जहां वर्ष 2019 में मुस्लिमों ने जयन्त चौधरी के पक्ष में एकतरफा मतदान किया था वहीं अब 2024 में मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में 17.63 प्रतिशत मतदाताओं ने ही नल चलाया है। मुजफ्फरनगर दंगों के बाद साल 2014 के चुनाव में मुस्लिमों के छिटकने से स्व. अजित सिंह न केवल हारे थे बल्कि रालोद तीसरे स्थान पर पहुंच गई थी।

सपा दूसरे और भाजपा पहले स्थान पर रही थी। वर्ष 2019 में जयन्त चौधरी भले हार गए थे। तब उन्हें मुस्लिमों की एकतरफा वोट मिलने से रालोद और भाजपा में महज 23 हजार वोट का मामूली अंतर था। अब वर्ष 2024 के चुनाव ऐन वक्त पर जयन्त चौधरी के भाजपा से हाथ मिलाने से राजनीतिक गलियारों में मुस्लिमों की रालोद से छिटकने की चर्चा आम थी। आइए अब मतगणना परिणाम से जानते हैं

मुस्लिम बहुल क्षेत्रों का हाल

बागपत विधानसभा क्षेत्र के बागपत शहर स्थित इस्लामिया मदरसा असरफुल उलूम में बने पांच बूथों पर 3162 में से 2909 वोट सपा तथा 214 वोट रालोद को मिली।  मुस्लिम बहुल गांव बसौद के पांच बूथों पर 3133 वोट में से सपा 2271 वोट तथा रालोद 682 वोट मिली हैं। गौसपुर गांव के दोनों बूथ पर कुल पड़ी 1592 वोट में से सपा 1361 वोट, तथा रालोद 112 वोट पर ही सिमट गई।

बिलोचपुरा गांव के पांचों बूथों पर कुल पड़े 3371 वोट में से सपा को 2466 वाेट तथा रालोद को 702 वोट मिली। मुस्लिम बहुल नगर पंचायत रटौल के 12 बूथों पर कुल पड़ी 7281 वोटों में से सपा को 5462 वोट तथा रालोद को महज 916 वोट मिली। छपरौली विधानसभा क्षेत्र के असारा गांव में बूथ नंबर 118 से 126 तक नौ बूथों पर 5372 वोट में से सपा को 5005 वोट तथा रालोद 337 वोट मिली।

मिलाना में बूथ नंबर 253 पर 666 वोट में से सपा को 566 तथा रालोद केवल 83 वोट प्राप्त कर पाई है। बूथ 254 पर 613 वोट में से सपा को 406 तथा रालोद को 203 वोट मिली। बड़ौत विधानसभा क्षेत्र के मुस्लिम बहुल कोताना गांव में सपा को 2217 तथा रालोद को 1243 वोट और इदरीशपुर गांव में सपा को 1489 तथा रालोद को केवल 108 वोट मिली। निवाड़ा में सपा को 3710 तथा रालोद को 692 वोट मिली। यूं मुस्लिम बहुल क्षेत्र में बसपा का सूफड़ा साफ नजर आया। जैसे असरा गांव को ही लीजिए जहां कुल 5372 वाेट में से बसपा को केवल 63 वोट मिली।

इन मुस्लिम बहुल गांवों में रालोद को बंपर वोट

बागपत विधानसभा क्षेत्र के मुस्लिम बहुल गांव पांची में रालोद के पक्ष में कमाल का मतदान हुआ। यहां तीनों बूथों पर कुल पड़ी 1853 वोट में से सपा को 917 वोट यानी 49.48 प्रतिशत व रालोद को 879 वोट यानी 47.43 वोट मिली। छपरौली विधानसभा क्षेत्र के टांडा गांव के सभी पांचों बूथों पर कुल 3706 वोट में से सपा को 2130 यानी 57.47 प्रतिशत वोट व रालोद को 1356 वोट यानी 36.58 प्रतिशत वोट मिली हैं।

राजपूत बहुल गांव में सपा की जीत

डौला में हिंदू तथा मुस्लिम राजपूतों की आबादी है लेकिन बहुलता हिंदू राजपूतों की है। इस गांव में सपा को 2592 वोट तथा रालोद को 1857 वोट मिली हैं।

ये रहा मुस्लिमों के मतदान का ट्रेंड

बागपत तथा छपरौली विधानसभा क्षेत्र के गांव और कस्बों के 47 बूथों पर कुल पड़ी 29470 वोटों में से सपा प्रत्याशी अमरपाल शर्मा को 22521 वोट तथा रालोद प्रत्याशी डा. राजकुमार सांगवान को 5198 वोट मिली। रालोद को 17.63 प्रतिशत तथा 76.42 प्रतिशत वोट सपा को मिली। बाकी 5.95 वोट बसपा समेत छह प्रत्याशियों और नोटा के पक्ष में गई। 


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.