बागपत, जेएनएन। अहेड़ा गांव स्थित संत रविदास मंदिर के प्रांगण में गंदे नाले का पानी घुसने से समाज के लोगों में रोष व्याप्त हो गया। प्रशासन से जल निकासी कराने की मांग की है।

ग्रामीणों ने बताया कि बारिश के चलते नाले के पानी संत रविदास मंदिर में घूस गया है। यहां श्रद्धालुओं को पूजा-अर्चना करने में परेशानी पैदा हो गई है। जल निकासी का कोई साधन नहीं। मंदिर के पास में ही मौजूद तालाब ओवर फ्लो हो गया है। प्रशासन से जल निकासी के लिए पक्के नाले की व्यवस्था करने की मांग कर चुके है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। ग्रामीणों ने प्रदर्शन करते हुए जल्द कार्रवाई की मांग की है। इस मौके पर भगतराज सिंह, अमर सिंह, धर्मपाल सिंह, पवन सिंह, बाबूराम, चमन, लाल देवी सिंह आदि लोग उपस्थित रहे। बारिश से जलभराव व कीचड़ से परेशान हैं लोग

कासिमपुर खेड़ी-कंडेरा मार्ग पर बारिश से जलभराव व कीचड़ की समस्या बनी हुई है। राहगीरों को आवागमन करने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों की शिकायतों के बाद भी समस्या का समाधान न होने से ग्रामीणों मे रोष है। कासिमपुर खेड़ी गांव की आबादी लगभग सात हजार है। गांव के मुख्य मार्ग के पास पानी की निकासी का इंतजाम न होने से बारिश का पानी सड़क पर जमा हो रहा है। सड़क पर बहते पानी से रास्ते पर कीचड़ फैला हुआ है। लोगों को आवागमन करने पर भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कीचड़ में कई लोग फिसलकर घायल भी हो रहे हैं। अनिल, सूरज, राहुल, जयकमल, अमित, नवाब, शरीफ आदि ने बताया कि यह मुख्य मार्ग कासिमपुर खेड़ी गांव से कंडेरा और अशरफाबद थल गांव में जाता है। यह समस्या काफी दिनों से बनी हुई है, लेकिन समाधान नहीं हो रहा है।

Edited By: Jagran