बागपत, जेएनएन। बीएसएफ के जवान का शव बुधवार को उनके पैतृक गांव ककौर कलां पहुंचा, जहां उनके शव का अंतिम संस्कार किया गया।

ककौर कलां गांव निवासी तेजवीर सिंह पुत्र ब्रहम सिंह बिहार के किशनगंज जनपद के बीएसएफ सेक्टर मुख्यालय खगड़ा में तैनात थे। मंगलवार को तेजवीर सिंह ने फांसी का फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली थी।

बुधवार को तेजवीर सिंह का पार्थिव शरीर शाम छह बजे उनके पैतृक गांव में पहुंचा। गांव में ही उनके शव का अंतिम संस्कार किया गया। 39 वर्षीय तेजवीर सिंह बीएसएफ की 109वीं बटालियन में हेड कांस्टेबल के पद पर तैनात थे। सेक्टर स्थित मुख्यालय में वह सरकारी आवास में परिवार के साथ रहते थे। सात दिन पहले ही वह अपनी पत्नी अनीता और बेटे अक्षय को अपने पैतृक आवास पर छोड़कर वापस ड्यूटी लौटे थे।

बीएसएफ के उच्चाधिकारियों के अनुसार तेजवीर सिंह मानसिक रूप से परेशान थे और पारिवारिक तनाव की वजह से तनाव में चल रहे थे। इसी वजह से उन्होंने आत्महत्या कर ली। बुधवार शाम को सम्मान के साथ उनके शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनकी मौत के बाद उनकी मां ओमवती, भाई निरंकार व अन्य स्वजन का रो-रो कर बुरा हाल था। जिला प्रभारी मंत्री आएंगे आज

प्रदेश सरकार के राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार आयुष, खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन धर्म सिंह सैनी गुरुवार को बागपत कलक्क्ट्रेट में प्रात: 10.30 बजे आयोजित चौरी-चौरा शताब्दी समारोह में भाग लेंगे। जिला सूचना अधिकारी ने यह जानकारी दी। डीएम ने की समीक्षा

डीएम राज कमल यादव ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की समीक्षा की। डीएम ने अधिकारियों को सभी पात्र किसानों को योजना का लाभ दिलाने का निर्देश दिया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप