Move to Jagran APP

बदायूं में बिना इजाजत हो रहे मस्जिद निर्माण पर गरजा बुलडोजर; लोगों के हंगामे के बाद पुलिस-प्रशासन ने की कार्रवाई

Badaun News बगैर अनुमति हो रहे मस्जिद निर्माण को बुलडोजर से ढहाया। एसडीएम सीओ और बिनावर पुलिस की मौजूदगी में सोमवार शाम दो बुलडोजर से निर्माण कार्य को ध्वस्त कराया गया। पुलिस ने इस मामले में आरोपित जावेद अली अब्दुल हसन जीशान अली और आस मोहम्मद को गिरफ्तार किया। उन चारों पर शांतिभंग की कार्रवाई करते हुए जेल भेज दिया है।

By Ankit Gupta Edited By: Abhishek Saxena Tue, 18 Jun 2024 09:08 AM (IST)
बदायूं में बिना इजाजत हो रहे मस्जिद निर्माण पर गरजा बुलडोजर; लोगों के हंगामे के बाद पुलिस-प्रशासन ने की कार्रवाई
बिनावर के कादराबाद गांव में बिना अनुमति बनाई कराए जा रहे निर्माण को ढहाता बुलडोजर। जागरण

संसू जागरण, सिलहरी/बदायूं। बिनावर थाना क्षेत्र के गांव कादराबाद में बिना अनुमति के मकान की आड़ लेकर मस्जिद निर्माण कराया जा रहा था। इसकी जानकारी पर गांव के ही दूसरे पक्ष के लोगों ने विरोध किया। निर्माण कार्य न रुकने पर सोमवार को हंगामा हुआ।

सूचना पर एसडीएम दातागंज धर्मेंद्र सिंह और सीओ सिटी आलोक मिश्रा पहुंचे। हंगामा कर रहे लोगों को शांत कराया। इसके बाद मामले की जांच की। निर्माण कार्य संबंधी अनुमति मांगी गई, जो नहीं दिखाई जा सकी। इसके बाद अधिकारियों ने बुलडोजर मंगवा कर निर्माण कार्य को ध्वस्त करा दिया। पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया और उनके विरुद्ध शांति भंग की कार्रवाई करते हुए जेल भेज दिया।

मंदिर की आड़ में बनवा रहे थे मस्जिद

बिनावर क्षेत्र के गांव कादराबाद निवासी जावेद एक मुस्लिम संगठन का सदस्य है। वर्ष 2011 में गांव के ही आस मोहम्मद ने जावेद के संगठन को 100 गज से अधिक का एक प्लाट दान दिया था। प्लाट की देखरेख जावेद कर रहा था। पिछले कुछ दिनों से जावेद ने उसी प्लाट पर मकान की आड़ में मजिस्द का निर्माण कराने लगा। लोगों के पूछने पर वह मकान बनाने की बात कहता। लेकिन जब ढांचा करीब आधा तैयार हुआ तो वह मजिस्द की तरह दिखाई देने लगी। इस पर गांव के दूसरे पक्ष के लोगों ने विरोध जताना शुरू किया।

ये भी पढ़ेंः यूपी के इस जिले में एक और फर्जीवाड़ा; 51 हजार रुपयों के लिए दोबारा करवा दिए दूल्हा-दुल्हन के सात फेरे

निर्माण रोकने की कहा, लेकिन नहीं रुका काम

शनिवार को लोगों ने प्रशासनिक अधिकारियों को इस मामले की जानकारी दी। गांव के मदनपाल, बृजेश, मुकेश, फूल सिंह, सत्येंद्र, सुनील, लेखराज, प्रेम शंकर आदि ने विरोध जताया। इसके साथ ही निर्माण कार्य रुकवाने की कोशिश की। लेकिन निर्माण कार्य नहीं रुका।

ये भी पढ़ेंः UP Weather: यूपी में गर्मी का प्रचंड कहर, अब तक 119 लोगों की मौत; मौसम विभाग ने मानसून पर दिया ताजा अपडेट

लोगों ने किया हंगामा

सोमवार को इसे लेकर हंगामा शुरू हो गया। इसकी सूचना पर बिनावर पुलिस पहुंची। पुलिस ने हंगामा शांत कराकर निर्माण कार्य रुकवा दिया। प्रशासनिक अधिकारियों को मामले की जानकारी दी। इस पर दातागंज एसडीएम धर्मेंद्र सिंह और सीओ सिटी आलोक मिश्र पहुंचे और निर्माण कार्य का निरीक्षण किया। जिसमें मकान की जगह मजिस्द का निर्माण ही होना पाया गया। जावेद ने मजिस्द के निर्माण कार्य के लिए जिला पुलिस प्रशासन से अनुमति भी नहीं ली थी। उसका नक्शा भी पास नहीं कराया था। इस पर एसडीएम ने निर्माण कार्य को गिराने के आदेश दिए।

एसडीएम दातागंज धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि बिना अनुमति के मस्जिद का निर्माण कराया जा रहा था। उच्चाधिकारियों को जानकारी देकर निर्माण ध्वस्त करा दिया गया है।