Move to Jagran APP

धर्मस्थल को अपवित्र करते दो दबोचे, तनाव

धार्मिक स्थल को किया अपवित्र

By JagranEdited By: Published: Mon, 25 Nov 2019 12:06 AM (IST)Updated: Mon, 25 Nov 2019 06:02 AM (IST)
धर्मस्थल को अपवित्र करते दो दबोचे, तनाव

संसू, फैजगंज बेहटा (बदायूं) : एक धर्मिक स्थल को तीन किशोर अपवित्र कर रहे थे। वहां से गुजर रहे दूसरे समुदाय के लोगों ने जब यह देखा तो आक्रोश फैल गया। इनमें दो को पकड़कर पुलिस को सौंपा गया है। जबकि तीसरा भीड़ से छूटकर फरार हो गया। घटना के बाद से इलाके में तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है। वहीं पुलिस तहरीर के आधार पर मुकदमे की तैयारी कर रही थी। कस्बा से श्मशान भूमि वाली सड़क पर ग्राम समाज की जमीन पर एक धर्मिक स्थल बना हुआ है। स्थानीय समेत आसपास इलाके के लोग यहां आराधना को पहुंचते हैं। रविवार शाम तकरीबन साढ़े चार बजे कस्बा निवासी रमाकांत व संतराम मिश्रा अपने खेत देखने जा रहे थे। इस दौरान उनकी नजर धार्मिक स्थल पर पड़ी तो देखा कि दूसरे समुदाय के तीन किशोर उसे अपवित्र कर रहे हैं। शोर मचाने पर आसपास इलाके के लोग मौके पर पहुंचे और तीनों को दबोच लिया गया। हालांकि एक आरोपित भीड़ को चकमा देकर फरार हो गया। मामले की जानकारी पर पुलिस भी घटनास्थल पर पहुंची और आरोपितों को अपने साथ थाने ले गई। यहां पूछताछ के दौरान ही उनके परिजन भी सिफारिश में पहुंचे तो लोग भड़क गए। हालात तनावपूर्ण होते देख सीओ बिसौली राघवेंद्र सिंह भी फोर्स लेकर घटनास्थल पर आ गए। वार्ड संख्या चार निवासी आशीष तिवारी ने पुलिस को घटना की तहरीर दी। साथ ही इलाकाई लोगों से पूरा मामला गंभीरता से सुनने के बाद सीओ ने पुलिस को घटना का मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिया। इंसेट

तीसरे की तलाश जारी

दो आरोपित पकड़े जा चुके हैं, जबकि तीसरा फरार है। सभी कस्बा के ही रहने वाले हैं। तीसरे की गिरफ्तारी न होने के कारण इलाकाई लोगों में रोष व्याप्त है। लोगों ने सीओ से भी उसकी गिरफ्तारी की मांग उठाई। वर्जन ::

घटना का मुकदमा लिखा जा रहा है। इलाके में शांति व्यवस्था कायम है। तीसरे आरोपित को भी पकड़ा जाएगा।

- राघवेंद्र सिंह, सीओ बिसौली

------------------------


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.