बदायूं : पीसीएफ गोदाम में तीन करोड़ की खाद के घोटाले के मामले में बुधवार रात सिविल लाइंस थाना पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ गबन का मुकदमा दर्ज किया है। मुकदमे में पीसीएफ गोदाम प्रभारी जगतपाल ¨सह भी नामजद है। पुलिस नामजदों की तलाश कर रही है, ताकि उनके बयान के आधार पर आगे की कार्रवाई अमल में लाई जा सके।

शहर के अलापुर रोड स्थित पीसीएफ गोदाम से चार दिन पहले तीन करोड़ रुपये की खाद गायब होने का मामला प्रकाश में आया था। डीएम के निर्देशन में में गठित टीम ने 3102 मीट्रिक टन खाद नदारद होने का खुलासा किया था। यह मामला देखते ही देखते शासन को पहुंच गया। इस मामले में पीसीएफ के जिला प्रबंधक अशोक शर्मा की ओर से मामले की तहरीर दी गई। हालांकि दो दिन मामला पुलिसिया पचड़े में फंसा रहा। जिला प्रबंधक का कहना था कि तहरीर दी गई है जबकि पुलिस तहरीर मिलने से इंकार कर रही थी।

बुधवार को तहरीर मिलने के बाद देर रात सिविल लाइंस थाना पुलिस ने गोदाम प्रभारी जगतपाल ¨सह निवासी आवास विकास कालोनी के अलावा परिवहन ठेकेदार और इफ्को के तत्कालीन अधिकारी के खिलाफ गबन की धाराओं में मुकदमा कायम कर लिया। इस कार्रवाई के बाद आरोपितों समेत खाद का गोलमाल करने वालों में हड़कंप मचा हुआ है। वर्जन

मुकदमा लिखा जा चुका है। तफ्तीश को तभी दिशा मिलेगी, जब आरोपितों से पूछताछ की जाएगी। इतना जरूर है कि कोई भी दोषी बख्शा नहीं जाएगा।

अनिल सिरोही, एसएचओ सिविल लाइंस

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस