जासं, बदायूं : घट रहे जलस्तर को रोकने के लिए डीएम दिनेश कुमार सिंह ने सभी अधिकारी-कर्मचारियों के अलावा व्यापारियों से भी कहा है कि वह अपने उद्योग परिसर में वर्ष जल संचयन के इंतजाम कर लें। इसके अलावा जिन व्यापारियों के लिए प्लाट आवंटित किए गए हैं उनकी ओर से कारोबार शुरू न करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की भी चेतावनी दी गई।

डीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना के तहत कार्य युद्ध स्तर पर किया जाए। जैम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन न करने वाले विभागों का वेतन रोका जाए। उद्योग स्थापित करने के लिए आवंटित किए गए प्लाटों में जिन्होंने अभी तक उद्योग स्थापित नहीं किए हैं उनकी जांच कर कार्रवाई की जाए। उन्होंने बैंकर्स को निर्देश दिए कि प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना के तहत अधिक से अधिक लोगों को ऋण दिया जाए। उन्होंने सभी विभागों को निर्देश दिया कि कार्यालयों में आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी जैम पोर्टल से ही करें। उद्योग स्थापित करने के लिए उझानी, सहसवान एवं बिसौली में आवंटित किए गए प्लाटों में जांच कर उद्योग प्रारंभ कराया जाए। डीएम ने सभी उद्योग बंधुओं को निर्देश दिए कि अपने-अपने उद्योग परिसर में वर्षा का जल संचयन करने की व्यवस्था करें। उन्होंने जल संचय के लिए समिति का गठन करने के निर्देश दिए हैं। 31 जुलाई तक बैंक काटें प्रीमियम

डीएम ने कहा है कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत केसीसी धारक 31 जुलाई तक प्रीमियम धनराशि नोटिफाइड फसलों का ही काटें। नॉन केसीसी किसान भी 31 जुलाई तक बैंक में जाकर अपनी फसलों का बीमा करा सकते हैं, जिससे बीमा कंपनी की ओर से दैवीय आपदा के कारण नष्ट होने वाली फसलों का मुआवजा मिल सके।

Posted By: Jagran