जेएनएन, बदायूं : कोरोना को लेकर प्रशासन और स्वास्थ्य महकमे ने अंदरखाने व्यापक स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसके तहत 50 से अधिक बेड वाला एक आइसोलेशन वार्ड बनाने की जगह तलाशी जा रही है। माना जा रहा है कि इतने बड़े आइसोलेशन वार्ड के लिए राजकीय मेडिकल कालेज के पिछले हिस्से का भवन काम आ सकता है। इसको लेकर फिलहाल विभाग में मंथन चल रहा है। कोरोना के संदिग्ध व संक्रमित मरीजों को भर्ती करने के लिए जिला अस्पताल, मेडिकल कॉलेज व सीएचसी उझानी में छह-छह बेड के सेपरेट आइसोलेशन वार्ड तैयार कर लिए गए हैं। ताकि मरीज के आने पर उसे अन्य मरीजों से अलग रखकर इलाज किया जा सके। वहीं वायरस का प्रकोप अचानक बढ़ने पर क्या किया जाएगा, यह सवाल सभी को खटक रहा है। ऐसे में राजकीय मेडिकल कॉलेज के पिछले हिस्से में खाली पड़े भवन को इसके लिए चुना जा सकता है। इस भवन में केबिन बनाकर प्रत्येक मरीज को अलग बेड पर शिफ्ट करने की सुविधा का खाका तैयार किया जा रहा है। ताकि हर स्थिति से निपटा जा सके। मंडलायुक्त का दौरा भी बुधवार को प्रस्तावित था, जिसमें राजकीय मेडिकल का निरीक्षण भी करने की अटकलें थीं लेकिन दौरा निरस्त होने के कारण फिलहाल इस मुद्दे पर विचार नहीं हो सका है।

इंसेट ::

उझानी में सैनिटाइज किए गए वाहन

फोटो - 18 बीडीएन - 58

संसू, उझानी : कोरोना के मद्देनजर एसडीएम पारसनाथ मौर्य के नेतृत्व व नगर पालिका ईओ डीके राय के निर्देशन में प्राइवेट बस स्टैंड पर बस, कार व ई रिक्शा आदि को कर्मचारियों ने सैनिटाइज किया। ताकि सफर के दौरान किसी भी यात्री में संक्रमण न फैलने पाए। बदायूं रोड स्थित एपीएस कोल्ड स्टोरेज के सामने चले इस अभियान के दौरान डॉ. महेश प्रताप ने भी लोगों को लक्षण और बचाव की जानकारी दी। इस दौरान कोतवाल विनोद चाहर, स्वास्थ्य निरीक्षक हरीश कुमार त्यागी आदि मौजूद रहे।

इंसेट ::

एडीएम ने बांटे मास्क

एडीएम प्रशासन ऋतु पुनिया ने अपने कार्यालय समेत कलेक्ट्रेट परिसर में तैनात कर्मचारियों को सैनिटाइजर समेत मास्क वितरित किए। इस दौरान उन्होंने यह निर्देश भी दिए कि सभी कर्मचारी मास्क पहनकर ड्यूटी करें। इसके साथ ही बाहर से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति के हाथ सैनिटाइजर से जरूर धुलवाएं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस