बदायूं : कांवड़यात्रा से निपटने के बाद अब पुलिस श्रीगणेश चतुर्थी पर्व की ड्यूटी में लगाने का खाका तैयार किया जा चुका है। वहीं मुहर्रम भी करीब है, ऐसे में सतर्कता और बढ़ाई जा रही है। डीजीपी ने भी वीडियो कांफ्रेंस करके अधिकारियों को इन मौकों पर पूरी सतर्कता बरतने का निर्देश दिया है। दोनों मौके आसपास होने के कारण पुलिस की टेंशन भी बढ़ना लाजिमी है।

13 सितंबर से जिलेभर में श्री गणेश चतुर्थी महोत्सव मनाया जाएगा। जहां बिरुआबाड़ी मंदिर के निकट भोलाधाम में श्रीगणेश कथा के साथ धार्मिक अनुष्ठान व सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। वहीं शहरभर में जगह-जगह श्रीगणेश की प्रतिमा स्थापित कर देर रात तक धार्मिक कार्यक्रम व भजन संध्या समेत झांकियां दिखाई जाएंगी। श्रीगणेश सेवा मंडल के अलावा विभिन्न संगठनों ने अपने-अपने इलाकों में इस पर्व को धूमधाम से मनाने की तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है। आधी रात तक चलने वाले इन कार्यक्रमों से जहां शहर में भक्तिमय माहौल बनेगा। वहीं चेन स्नै¨चग समेत झपटमारी की घटनाओं में बढ़ोत्तरी की आशंका को नकारा नहीं जा सकता। ऐसे में अब पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है। शहर में सक्रिय हैं स्नेचर

शहर में बाइक सवार कुंडल स्नेचर सक्रिय हैं। सदर कोतवाली व सिविल लाइंस इलाकों में पिछले दिनों ऐसी दो घटनाएं भी सामने आ चुकी हैं। ऐसे में पुलिस को इस पर्व के करीब आते ही टेंशन बढ़ने लगी है। ताकि सात दिवसीय यह पर्व शांतिपूर्ण माहौल के बीच संपन्न हो जाए।

--यह त्योहार खासकर शहर में बड़े स्तर पर मनाया जाता है। कोतवाली और सिविल लाइंस के अलाव महिला थाने को भी निर्देश दिए गए हैं कि पिकै¨टग व पेट्रो¨लग बढ़ा दी जाए। थानेदार खुद आधी रात को पिकै¨टग का मुआयना करेंगे। यूपी -100 के प्वाइंट भी बढ़ाए गए हैं। ताकि किसी तरह की अप्रिय घटना न हो। अतिरिक्त पुलिस भी पुलिस लाइन से लिया गया है। इसके अलावा अपने स्तर से भी कार्यक्रमस्थलों के आसपास की सुरक्षा नियमित चेक की जाएगी।

- जितेंद्र श्रीवास्तव, एसपी सिटी

Posted By: Jagran