Move to Jagran APP

बिना किसी जुर्म तीन दिन से पुलिस हिरासत में नाबालिग, यूपी की बदायूं पुलिस का कारनामा

बिसौली थाना क्षेत्र के गांव खजुरिया निवासी राज प्रकाश सिंह ने अपर पुलिस महानिदेशक को दिए शिकायती पत्र के माध्यम से बताया कि इसके 14 वर्षीय पुत्र मोहन सिंह को वजीरगंज की पुलिस 11 जून की दोपहर में घर से उठा लाई। पुलिस के लौटते ही परेशान स्वजन थाने पहुंचे। तब स्वजनों को पता चला कि न तो उसके खिलाफ कोई प्राथमिकी दर्ज है और न ही कोई शिकायत।

By Kamlesh Kumar Sharma Edited By: Mohammed Ammar Fri, 14 Jun 2024 11:35 PM (IST)
बिना किसी जुर्म तीन दिन से पुलिस हिरासत में नाबालिग

संसू, जागरण वजीरगंज : सीएम योगी की सख्ती का कोई असर पुलिस पर होता नहीं दिख रहा। बिना किसी जुर्म के वजीरगंज पुलिस बिसौली थाने के एक गांव जाकर नाबालिग को पकड़ थाने ले आई। आरोप है कि पुलिस ने उसे चोरी में जेल भेजने की धमकी देकर छोड़ने के नाम पर 25 हजार वसूल लिए बाद में इतने की और मांग की गई।

परेशान स्वजन ने शुक्रवार को एडीजी से मामले की लिखित शिकायत की। एडीजी की फटकार के बाद पुलिस नाबालिग को छोड़ने को राजी हुई है। बताया जा रहा है कि एडीजी ने इस मामले की जांच के भी आदेश कर दिए हैं।

बिसौली थाना क्षेत्र के गांव खजुरिया निवासी राज प्रकाश सिंह ने अपर पुलिस महानिदेशक को दिए शिकायती पत्र के माध्यम से बताया कि इसके 14 वर्षीय पुत्र मोहन सिंह को वजीरगंज की पुलिस 11 जून की दोपहर में घर से उठा लाई। पुलिस के लौटते ही परेशान स्वजन भागे - भागे थाने पहुंचे। तब स्वजनों को पता चला कि न तो उसके खिलाफ कोई प्राथमिकी दर्ज है और न ही कोई शिकायत। स्वजन ने पुलिस से उसको गिरफ्तार करने की वजह पूछी तो पुलिस ने उसे चोरी के मामले में जेल भेजने की बात की।

आरोप है कि बाद में पुलिस ने उसे छोड़ने के नाम पर सौदाबाजी शुरू कर दी। आरोप है कि पीड़ित पक्ष ने पुलिस को 25 हजार रुपये भी से दिए, लेकिन पुलिस ने उनसे 25 हजार की डिमांड और कर दी। इस सौदाबाजी के दौरान तीन दिन से नाबालिग थाने में ही पुलिस की हिरासत में रहा।

शुक्रवार को स्वजनों ने बरेली पहुंचकर एडीजी से मामले की लिखित शिकायत की गई है। इस संबंध में इंस्पेक्टर राकेश सिंह ने बताया कि किसी मामले में पूछताछ के लिए बुलाया था। परिजनों को बुलाया था, उनके आने पर उनके सुपुर्द कर दिया जाएगा।

-- -- -- -- -- -- --