उघैती(बदायूं), जेएनएन : थाना उघैती के गांव भवानीपुर में युवक की मंगलवार देर रात गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इसमें मृतक के भाई ने सात लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। मृतक के भाई ने बताया कि आरोपितों का परिवार गांव में बड़ा और दबंग माना जाता है। लेकिन, उनका परिवार इनसे नहीं दबता है। दो माह पहले बाइक को लेकर हुए विवाद में भी मृतक मनोज उन पर भारी पड़ा था। इसी खुन्नस में आरोपितों ने उसकी हत्या कर दी।

मंजीत ने बताया कि मंगलवार को मनोज खंडुआ गांव गया था। वहां से लौटकर वह ट्यूबवेल पर पहुंचकर मां का इंतजार कर रहा था। इसी दौरान सौदान सिंह, नत्थू, प्रदीप, संजू, राजू, महिपाल और मुकेश ने घेर लिया। पहले मारपीट की और फिर गोली मारकर हत्या कर फरार हो गए। पुलिस सातों आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। बुधवार देर शाम स्वजन ने शव का अंतिम संस्कार किया। पुलिस ने रिश्तेदार थाने में बैठाए

थाना पुलिस मनोज के हत्यारोपितों की तलाश में दबिश दे रही है। लेकिन, सभी फरार हैं। पुलिस ने आरोपितों के पांच से छह रिश्तेदारों को थाने में बैठाकर पूछताछ कर रही है। आशंका है कि आरोपित जनपद के ही किसी क्षेत्र में छिपे हैं। तीन साल पहले जेल से छूट कर आया था मनोज

मंजीत ने बताया कि 10 साल पहले गलती से मनोज से गोली चल गई थी। जिसमें एक जान चली गई थी। इस मामले में मनोज कई साल जेल में रहा। अभी तीन साल पहले ही उसे जमानत पर रिहा किया गया था। वह अब व्यापार करना चाहता था। लेकिन, हत्यारोपितों ने उसे मार दिया। हत्यारोपितों में भी कई जा चुके जेल

गांव के लोगों ने बताया कि मनोज की हत्या में नामजद किए गए एक ही परिवार के लोग पहले भी जेल जा चुके हैं। इन लोगों ने पहले भी गांव में दो हत्याएं की थी। बताया कि इस परिवार ने गांव में यह तीसरी हत्या की है। वर्जन

तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया है। आरोपितों से मनोज का कुछ माह पहले विवाद हुआ था। लेकिन, तब कोई शिकायत नहीं की थी। मामले की जांच चल रही है। टीमें आरोपितों की तलाश में जुटी हैं। जल्द उनकी गिरफ्तारी की जाएगी।

- वीरेंद्र सिंह राणा, थानाध्यक्ष उघैती

Edited By: Jagran