जेएनएन, सिलहरी (बदायूं) : वैश्विक महामारी कोरोना के बीच मलेरिया ने भी गांवों में पैर पसारना शुरू कर दिया है। जिला पहले से ही मलेरिया के प्रति संवेदनशील रहा है। बावजूद इसके इस साल भी मलेरिया के प्रति अधिकारी सचेत नहीं। नतीजतन, सलारपुर ब्लॉक के गांव सादुल्लापुर में मलेरिया फैल गया है। वहां चार लोगों में मलेरिया की पुष्टि हुई है।

पिछले दो साल से लगातार जिले के कई गांवों में मलेरिया का जबरदस्त प्रकोप रहा। इस बार कोरोना संक्रमण आने के कारण पूरा स्वास्थ्य महकमा उसी के नियंत्रण में लगा है। इस कारण मलेरिया की रोकथाम का काम काफी हल्का है। सलारपुर ब्लॉक के गांव सादुल्लापुर के शिवम, राशि, सुरेश, राजू, हरिश्चंद्र, निर्मला देवी, चरण सिंह आदि दर्जनभर से अधिक बुखार की चपेट में हैं। ग्राम प्रधान दिनेश ने बताया कि गांव में कई दिन से मलेरिया फैला हुआ है। एएनएम ने मलेरिया बुखार की चपेट में आए लोगों की सूचना स्वास्थ्य केंद्र पर नहीं दी, लोग झोलाछापों से इलाज कराने को मजबूर हैं। गांव की स्थिति बिगड़ने लगी तो ग्राम प्रधान ने स्वास्थ्य विभाग को सूचना दी। मंगलवार को जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. हरिदत्त के निर्देश पर सीएचसी प्रभारी घटपुरी डॉ. ख्यालीराम राठौर ने अस्पताल की टीम गांव भेजी। जिसमें गांव के एक दर्जन लोगों का सैंपल लिया गया। रिपोर्ट आने के बाद गांव के चार लोगों की रिपोर्ट मलेरिया पॉजिटिव मिली है। मलेरिया पॉजिटिव मिले मरीजों को दवाएं मुहैया कराई गईं। जांच टीम में डॉ. फैज, डॉ. मेराज, सुबोध शर्मा, सचिन आदि मौजूद रहे। इस संबंध में सीएचसी प्रभारी ख्यालीराम राठौर ने बताया कि गांव में मलेरिया बुखार फैला है। स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव गई थी। एक दर्जन लोगों के सैंपल लिए गए हैं जिसमें चार लोग मलेरिया पॉजिटिव हैं। उनको दवा वितरण की गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस