बदायूं, जेएनएन : दशहरा हम सदियों से बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाते आ रहे है। हाल में शहर की कई बुराइयों का अंत हुआ है। इसमें शहर में डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन, अतिक्रमण हटवाकर चौराहों का कायाकल्प प्रमुख रहा। वहीं, यातायात व्यवस्था को सुचारू कराने को प्रमुख चौराहों पर ट्रैफिक लाइटें लगवाई गई हैं। शहर में सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण से बड़ी समस्या का निदान हुआ। अब भी कई सामाजिक बुराइयां शेष हैं, जिनका अंत जरूरी है। जिला प्रशासन, नगर पालिका प्रशासन से लेकर आम जनमानस को इन्हें दूर कराने के लिए प्रयास करने होंगे। आइये, इस दशहरा पर संकल्प लें कि खुद की और समाज की बुराइयों का अंत करेंगे। पिक शौचालय ने दिलाई समस्या से मुक्ति

शहर के बाजारों में शौचालय नहीं होने की बड़ी समस्या थी। इससे महिलाओं को खासी मुश्किल होती थी। नगर पालिका प्रशासन ने जगह-जगह पिक शौचालय बनवाकर बड़ी समस्या का निदान कराया। शहर में डोर-टू-डोर उठने लगा कूड़ा

कूड़ेदान तो शहर में लगे। लेकिन, गायब हो गए। लोग फिर से सड़कों पर कूड़ा फेंकने लगे। इस समस्या के स्थायी निदान को नगर पालिका प्रशासन ने डोर टू डोर कूड़ा उठवाने की शुरूआत की है। हालांकि अब भी कुछ लोग न्यूनतम शुल्क देने से कतरा रहे हैं। विशेष वाहन से जन शिकायतों का निदान

शहर के लोगों की आम शिकायत थीं कि नगर पालिका के अफसर और कर्मचारी शिकायत करने के बाद भी निदान नहीं कराते। जिला प्रशासन ने आम आदमी की इस शिकायत को दूर कराने को विशेष वाहन चालू कराया है, जो फोन करने के कुछ ही देर में पहुंचने लगा है। आक्सीजन प्लांट से मिलने लगा जीवन

कोरोना काल में आक्सीजन की कमी से जाने कितने लोग असमय काल का ग्रास बन गए। जिला अस्पताल, राजकीय मेडिकल कालेज, घटपुरी और बिनावर में आक्सीजन प्लांट चालू हो जाने से बड़ी राहत मिल गई। अब आक्सीजन की कमी से किसी की जान नहीं जाएगी। चौराहों पर लग गईं ट्रैफिक लाइटें

यातायात व्यवस्था सुचारू कराने को चौराहों का चौड़ीकरण कराया। खेड़ा नवादा, पुलिस लाइन चौराहा, लावेला चौक और लालपुल पर ट्रैफिक लाइटें लगवाई गईं। शहर तो सुंदर दिखने लगा, लेकिन ट्रैफिक नियमों का पालन कराने के लिए इसे सख्ती से लागू किया जाना चाहिए इनसेट ::

इन बुराइयों का भी हो खात्मा

- सड़क पर नहीं कूड़ेदान में डालें कूड़ा, पालीथिन का न करें उपयोग।

- अंडरग्राउंड केबल के खुले बाक्स को बंद कराने में हो सख्ती।

- बाइक चलाते समय लगाएं हेलमेट, गाड़ी रोक कर करें मोबाइल पर बात

- नालों पर हुए अतिक्रमण से हटाया जाए। इससे हो सके सफाई

- जाम से मुक्ति को शहर में पार्किंग बनवाने के लिए हों प्रयास

- शहर को गड्ढ़ों से मुक्ति दिलाने को ठोस कार्रवाई की जरूरत

- खाद्य वस्तुओं में मिलावट और कालाबाजारी रोकने के हों उपाय

- विद्यालयों के पास छुट्टी के समय पुलिस की लगे ड्यूटी

- डग्गामार वाहनों के संचालन पर लगाया जाए अंकुश

- पनवड़िया बिजली उपकेंद्र के जलभराव की दूर हो समस्या

Edited By: Jagran