बदायूं, जेएनएन : गांव बसोमा में एडीओ पंचायत के नजदीकी और पूर्व बीडीसी की मंगलवार को हत्या की गई थी। स्वजन का आरोप है कि इस मामले में दारोगा लोकेंद्र भाटी ने लापरवाही की है। वह जब गुमशुदगी दर्ज कराने पहुंचे तो दारोगा ने उन्हें तवज्जो नहीं दी। फिर शाम को तालाब किनारे शव मिला। स्वजन दरोगा की बर्खास्तगी की मांग को लेकर पोस्टमार्टम हाउस में धरने पर बैठ गए। सूचना पर एसपी सिटी, सीओ और एसडीएम मौके पर पहुंचे। अफसरों के आश्वासन व समझाने पर वह माने।

उझानी के गांव बसोमा निवासी पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य हरदयाल मंगलवार सुबह टहलने जाने की बात कह कर घर से निकले थे। देर शाम तक घर नहीं पहुंचे। शाम को उनका शव गांव के बाहर तालाब के किनारे पड़ा मिला था। स्वजन ने गांव के ही दो लोगों पर चुनावी रंजिश में हत्या करने का मुकदमा दर्ज कराया था। बुधवार को हुए पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गोली सटाकर मारने की जानकारी सामने आई है। पोस्टमार्टम हाउस पर स्वजन के साथ भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने धरना दिया। स्वजन ने लापरवाही करने वाले दारोगा लोकेंद्र भाटी को तत्काल बर्खास्त, घर के एक सदस्य को नौकरी और मुआवजा की भी मांग की है। सूचना पर एसपी सिटी प्रवीण सिंह चौहान, सीओ गजेंद्र सिंह व एसडीएम मौके पर पहुंचे। उन्होंने बताया कि एसएसपी संकल्प शर्मा जिले में नहीं है। उनके आते ही पूरा मामला उन्हें बताकर दारोगा पर कार्रवाई कराई जाएगी। फिर स्वजन माने और शव गांव ले जाकर अंतिम संस्कार किया। आरोपितों की गिरफ्तारी को लगाईं तीन टीमें

रामदयाल के स्वजन ने गांव के ही मुकेश और इंद्रपाल व एक अज्ञात पर चुनावी रंजिश में हत्या का आरोप लगाया था। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए तीन टीमें उनकी तलाश में लगाई है। इंस्पेक्टर अजय चाहर ने बताया कि आरोपितों की तलाश में तीन टीमें लगाई हैं। जल्द उनकी गिरफ्तारी की जाएगी। हत्या के और पहलू भी तलाश रही पुलिस

रामदयाल की हत्या पुरानी रंजिश में ही हुई, या इसके पीछे और भी राज हैं। इसके लिए पुलिस की टीमें लगी हुई हैं। सीओ गजेंद्र सिंह ने बताया कि पुलिस टीमें सभी पहलुओं पर जांच कर रही है। सर्विलांस का भी सहारा लिया जा रहा है। स्वजन की मांग की जानकारी एसएसपी को दी जाएगी। जांच के आधार पर दारोगा के खिलाफ भी कार्रवाई होगी।

Edited By: Jagran