जागरण संवाददाता, बदायूं : मेरठ से अंग्रेजी शराब लेकर लखनऊ जा रहे ट्रक के पलटने के बाद उसमें मौजूद 45 लाख की शराब चोरी हो गई है। हालांकि ड्राइवर समेत चार के खिलाफ आबकारी इंस्पेक्टर ने साजिश के तहत चोरी का मुकदमा लिखाया। पुलिस ने उसे जेल भेज दिया है। वहीं, मामले में आबकारी विभाग की भूमिका पर भी सवाल उठे हैं।

मेरठ के थाना किठौर इलाके के गांव कयास्थ बड़ठा का मुहम्मद खुशी 31 अगस्त को अंग्रेजी शराब की 848 पेटियां लादकर लखनऊ रवाना हुआ था। रात को ट्रक बदायूं के अलापुर थाना क्षेत्र के गांव कंचनपुर के पास खाई में जा पलटा। जानकारी पर यूपी 100 व थाना पुलिस ने भी मुआयना कर आबकारी विभाग को इसकी सूचना दी। चूंकि शराब का बीमा था, ऐसे में उसकी गिनती कराने के लिए मेरठ से ही टीम आनी थी। तब तक इंतजार में ट्रक वहीं पड़ा रहा। आबकारी विभाग की टीम समेत ड्राइवर व मालिक भी निगरानी में लगे रहे। गिनती हुई तो पता लगा कि ब्रांडेड शराब के 29 हाफ, 22 पौवे व एक साधारण ब्रांड के 421 हाफ कम निकले। इस शराब की कीमत आबकारी विभाग ने तकरीबन 45 लाख आंकी गई। यह हुई कार्रवाई

ड्राइवर ने पूछताछ में बताया कि गांव के ही रिजवान 30 हजार रुपये का झांसा देकर कुछ देर के लिए ट्रक अज्ञात स्थान पर ले गया। वहां शराब उतारी जबकि बाद में अलापुर के पास ट्रक को साजिश के तहत पलटकर भाग निकला। ड्राइवर को पुलिस ने जेल भेज दिया।

वर्जन

रिजवान की तलाश की जा रही है। मेरठ क्राइमब्रांच भी उसकी तलाश में लगी है। उसकी गिरफ्तारी के बाद ही सत्यता सामने आएगी कि पूरा मामला क्या है। इससे पहले कुछ नहीं कहा जा सकता।

केजी शर्मा, इंस्पेक्टर अलापुर वर्जन

पुलिस ने हमें सूचना दे दी थी। हालांकि ड्राइवर या मालिक की ओर से लिखित सूचना दूसरे दिन मिली थी। ड्राइवर ने खुद बताया था कि रिजवान ने शराब चोरी की है। इसी आधार पर कार्रवाई की गई है।

नीरज सिंह, आबकारी निरीक्षक दातागंज क्षेत्र

-----------

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस