फोटो 20 बीडीएन 3 - बदायूं में दर्ज मुकदमों में सुनवाई हो चुकी थी पूरी, सम्भल की है बाकी

- प्रशासनिक आधार पर हुई कार्रवाई के बाद कड़ी सुरक्षा में पहुंचाए गए जागरण संवाददाता, बदायूं : जिला कारागार में निरुद्ध 35 बंदियों को मुरादाबाद जेल में शिफ्ट किया गया है। यह सभी बंदी गुन्नौर, रजपुरा और धनारी थाना क्षेत्रों के रहने वाले हैं, जो पहले बदायूं में शामिल थे। हालांकि जिला कारागार अभी भी ओवरलोड है। क्योंकि यहां 529 की क्षमता के बाद भी डेढ़ हजार से अधिक कैदी व बंदी निरुद्ध हैं। संभल जिले के सृजन से पहले गुन्नौर, धनारी व रजपुरा थाने बदायूं की सीमा में आते थे। विभाजन के बाद यह तीनों थाने अब सम्भल जिले में शामिल हो गए। वहां लेन का निर्माण नहीं होने से इन थानों में दर्ज मुकदमों के आरोपित बदायूं जेल में ही निरुद्ध रह गए थे। हालांकि पिछले काफी समय से वहां के बंदी अब मुरादाबाद जेल में भेजे जा रहे हैं। इनमें जो बंदी निरुद्ध थे, उन पर बदायूं में दर्ज मुकदमों में सुनवाई पूरी हो चुकी थी, जबकि संभल के मुकदमों में सुनवाई बाकी थी। ऐसे में जेल प्रशासन ने इसकी रिपोर्ट शासन को भेजी। सूची में 35 बंदी भी शामिल किए थे। प्रशासनिक आधार पर जेल प्रशासन ने इन 35 बंदियों को मुरादाबाद जेल में ट्रांसफर किया है। अभी भी निरुद्ध हैं सैकड़ों बंदी

जिला कारागार में अभी भी सैकड़ों बंदी इन तीन थाना क्षेत्रों के यहां निरुद्ध हैं। क्योंकि उनके खिलाफ बदायूं के भी विभिन्न थानों में दर्ज अभियोगों में सुनवाई की जा रही है। माना जा रहा है कि एक तिहाई बंदी इन्हीं इलाकों के हैं जिनके कारण जेल ओवरलोड है। वर्जन ::

बंदियों को यहां से भेजा जा चुका है। उनके मुकदमों की सुनवाई अब सम्भल में हो रही है। यहां जो मुकदमे थे, उनकी सुनवाई पूरी हो चुकी है। अभी भी इन तीन थानों के बंदी हमारे यहां निरुद्ध हैं। क्योंकि बदायूं में दर्ज मुकदमों की सुनवाई अभी जारी है।

- आदित्य कुमार, प्रभारी जेल अधीक्षक

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस