जागरण संवाददाता, सरायमीर (आजमगढ़) : सरायमीर थाना क्षेत्र के फत्तनपुर गांव स्थित ससुराल आए टेलर चालक का रविवार की सुबह रेलवे ट्रैक से बरामद हुआ। परिवार के लोगों ने उसकी हत्या करने की आशंका जताई है। पुलिस घटना की छानबीन में जुटी हुई है।

जौनपुर जिले के शाहगंज कोतवाली क्षेत्र के सिधाई गांव निवासी 38 वर्षीय अखिलेश कुमार यादव पुत्र सियाराम यादव मुंबई में रहकर ट्रेलर चलाता था। उसकी ससुराल सरायमीर थाना क्षेत्र के कड़छा गांव में स्थित है। उसकी पत्नी रीता देवी अपने तीन बच्चों को लेकर दस दिन पूर्व ससुराल से मायके पिता मूसे यादव के घर आयी थी। भाई विरेंद्र यादव का कहना है कि अखिलेश घर न आकर अपनी पत्नी से मिलने के लिए शनिवार की रात को टेलर लेकर सीधे ससुराल आ गया। वह टेलर को सिकरौर सहबरी बाजार में खड़ी कर रात को ससुराल गया था। रात को दूसरा चालक सिकरौर सहबरी बाजार में खड़ी टेलर लेकर चला गया था। रविवार की सुबह ससुराल से लगभग दो किमी दूर फत्तनपुर गांव स्थित रेलवे ट्रैक पर उसका शव ग्रामीणों ने पड़ा देखा तो वे सन्न रह गए। शव की पहचान अखिलेश के रूप में हुई तो पुलिस ने घटना की खबर परिजनों को दिया। सूचना पाकर परिवार के लोग भी मौके पर आ गए। भाई विरेंद्र ने अखिलेश के सिर व हाथ पर चोट के निशान देख उसकी हत्या किए जाने की आशंका जताई। इधर ससुर मूसे यादव का कहना है कि वह अपना रिक्शा ट्राली लेकर रात को घर आया और भोजन करने के बाद सो गया। अखिलेश कब उनके घर आया यह जानकारी उन्हें नहीं हो सकी। छानबीन के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। अखिलेश की मौत से पत्नी के चीख पुकार से घर पर कोहराम मचा हुआ था। उसके तीन बच्चों में 8 वर्षीय अनुराग, 5 वर्षीय प्रीति, 2 वर्षीय सारंग हैं। वह चार भाइयों में सबसे बड़ा था। सरायमीर थानाध्यक्ष मनोज ¨सह का पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट हो सकेगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस