जासं, आजमगढ़ : सामाजिक संस्था पूर्वाचल विकास आंदोलन के नेतृत्व में सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत किया गया। न्यायालय ने अपने आदेश के अंतर्गत देश में आपसी भाईचारा व एकता को दर्शाते हुए एक स्वस्थ फैसला दिया। न्याय के मंदिर में दशकों पुराने विवाद को सौहार्दपूर्ण तरीके से सुलझा दिया। सर्वोच्च न्यायालय के फैसले से न किसी की हार हुई न किसी की जीत हुई, बल्कि सदियों पुराने विवाद का पटाक्षेप हुआ। पूर्वांचल विकास आंदोलन के संयोजक प्रवीण कुमार सिंह ने कहा कि इस विवाद के कारण चुनावों के समय विकास का मुद्दा पीछे छूट जाता था और मंदिर-मस्जिद के विवाद में ही लोग उलझ कर रह जाते थे। इस सौहार्दपूर्ण फैसले के बाद भारत वर्ष के विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य व मूलभूत सुविधाओं पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। इस अवसर पर विजेंद्र सिंह, हरिलाल यादव, जवाहर लाल सिंह, सत्यपाल सिंह, नदीम, मु. अब्बास, अनिल सिंह, आनंद सिंह, इश्तेयाक अहमद, प्रबंधक सुरेश यादव आदि ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया और सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाने का आह्वान किया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप