जागरण संवाददाता, आजमगढ़ : डीआइजी सुभाष चंद्र दुबे ने रविवार की देर शाम सिधारी व मुबारकपुर थाने का निरीक्षण किया और इस दौरान थानों को मालखाना बनते देख भड़क गए। थाना परिसर में मौजूद मुकदमा से संबंधित वाहनों व सामानों के निस्तारण का निर्देश दिया।

डीआइजी ने सर्वप्रथम सिधारी थाने का निरीक्षण किया। एक-एक रजिस्टर का रख-रखाव, सफाई आदि को भी देखा। इसके बाद वे मुबारकपुर थाने पहुंचे। थाना परिसर के साथ ही मेस, हवालात, बैरक व कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान दोनों थानों पर गंदगी मिली तो उन्होंने नाराजगी जताते हुए साफ-सफाई का आदेश दिया। इसी के साथ ही वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी, लंबित विवेचनाओं के निस्तारण का भी निर्देश दिया। थाने के अभिलेख व रजिस्टर को सुव्यवस्थित तरीके से रखने को कहा। सिधारी क्षेत्र में किशोरी के साथ हुए दुराचार के वांछित आरोपित की चौबीस घंटे के अंदर हुई गिरफ्तारी पर डीआइजी ने इंस्पेक्टर विनय कुमार मिश्र को पुरस्कार देने की घोषणा की। डीआइजी के निरीक्षण से पुलिस कर्मियों में खलबली मची हुई थी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस