जागरण संवाददाता, अमिलो (आजमगढ़) : सठियांव विकास खंड क्षेत्र में पशु आश्रय स्थल न होने के कारण बेसहारा पशु छुट्टा घूम रहे हैं। कभी किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं तो कभी झुंड बनाकर सड़क पर पहुंच जा रहे हैं जो राहगीरों के लिए मुसीबत बने हुए हैं। इधर कई दिनों से बारिश और खेतों में पानी लगने के कारण पशुओं का झुंड सड़क पर आ गया है।

विकास खंड क्षेत्र सठियांव की आबादी लगभग दो लाख 55 हजार है। कुल ग्राम पंचायतों की संख्या 84 है। इनमें किसानों की संख्या अधिक है। किसानों की मुख्य फसल गेहूं, सरसों, दलहन खेतों मे खड़ी है। लगातार पिछले तीन दिनों से हो रही बारिश व तेज हवा के कारण खड़ी फसल गिरकर नष्ट हो रही है। वहीं बेसहारा पशु भी खेतों से पलायन कर सड़कों पर पहुंच गए हैं। सठियांव चौराहा पर बेसहारा पशुओं का झुंड आजमगढ़-मऊ मुख्य मार्ग पर पशु आश्रय के स्थल के रूप में देखा जा सकता है। इससे छोटे-बड़े वाहन सहित राहगीरों को आवागमन में असुविधा हो रही है। क्षेत्र के मिथलेश यादव, जितेंद्र, रामहर्ष यादव, राहुल आदि लोगों का कहना है कि यदि क्षेत्र में पशु आश्रय स्थल होता हो पशु सड़क व खेतों में नहीं भटकते। इनके चलते फसलों का नुकसान हो रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस