जागरण संवाददाता, आजमगढ़: कोहरे व शीतलहर और फिर बूृंदाबादी के कारण सोमवार को ठंड काफी बढ़ गई। सुबह से शाम तक भगवान भास्कर के दर्शन नहीं हुए। जिसके चलते लोगों को कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ रहा है। मजबूरी में ही लोग घरों से बाहर निकल रहे हैं। कोहरे के कारण सड़कों पर वाहन रेंगते नजर आए। ठंड का सबसे ज्यादा असर बच्चे व बुजुर्गों पर पड़ रहा हैं। साथ ही वे कई तरह की बीमारियों की चपेट में आने लगे हैं। टोपी, मफलर, जैकेट आदि गर्म कपड़े पहनकर ही लोग घरों से बाहर निकल रहे हैं। चाय-काफी की दुकानों पर भीड़ देख गई। गांवों से लेकर शहर तक लोग जगह-जगह अलाव जलाकर सर्दी से राहत पाने की कोशिश करते रहे। यात्रा करने वालों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जिले में दो दिनों तक हुई बूंदाबांदी के बाद तो राहत मिलती नहीं दिखाई दे रही है। सबसे ज्यादा दिक्कत दिहाड़ी मजदूरी करने वालों को उठानी पड़ रही है। मौसम में लगातार उतार-चढ़ाव के बीच राहत की उम्मीदों पर पानी फिर रहा है। ठंड के कारण शाम को बाजार जल्द ही सूना हो जा रहा है। दुकानदार भी दुकान बंद कर घर चले जा रहे हैं। ठंड की वजह से ठेला चालक व आम जन ठिठुरते दिखाई दे रहे हैं।

Edited By: Jagran