जागरण संवाददाता, लालगंज (आजमगढ़) : देवगांव कोतवाली क्षेत्र के जेहतमंदपुर गांव में शुक्रवार को धान न उठाने की बात को लेकर हुए विवाद में देवर ने आशा बहू की गला घोटकर हत्या कर दी। मृत महिला के पिता की तहरीर पर पुलिस ने आरोपित देवर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। आरोपित देवर घर छोड़कर फरार हो गया है।

जौनपुर जिले के केराकत थाना क्षेत्र के मुर्की गांव निवासी रंपत पुत्र रामकरन की 32 वर्षीय पुत्री कुसुम की शादी लगभग तेरह वर्ष पूर्व जेहतमंदपुर गांव निवासी अनिल कुमार के साथ हुई थी। उसके तीन बच्चों में 12 वर्षीय पुत्री अंशिका, नौ वर्षीय पुत्री सलोनी व सात वर्षीय पुत्र अमन हैं। वह आशा बहू के पद पर कार्यरत थी। कुसुम का देवर सुधीर कुमार दिल्ली में रहकर नौकरी करता है। वह चार दिन पूर्व दिल्ली से घर आया था। स्वजनों का आरोप है कि शुक्रवार की दोपहर को देवर सुधीर ने अपनी भाभी कुसुम से धान उठाने के लिए कहा। उसकी भाभी ने गांव के किसी मरीज को अस्पताल ले जाने की बात कहीं। इसी बात को लेकर देवर से उसका विवाद हो गया। विवाद के दौरान देवर ने अपनी भाभी की गला दबा दिया। अचेतावस्था में स्वजन उसे लेकर वाराणसी के एक अस्पताल में पहुंचे। जहां डाक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृत महिला के पिता रंपत की तहरीर पर देवगांव कोतवाली पुलिस ने आरोपित देवर सुधीर पुत्र सूर्यनाथ के खिलाफ गैर इरादतन हत्या की धारा के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया। फरार आरोपित की पुलिस तलाश कर रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस