जासं, औरैया: आभूषणों की सफाई करने के बहाने महिलाओं से टप्पेबाजी करने वाले दो शातिर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उनसे एक बाइक बरामद की गई। इसके अलावा उनसे उनके गिरोह के बारे में पूछताछ की गई। कुछ और घटनाओं का राजफाश किया गया है। पुलिस की सक्रियता से चोरी की कुछ घटनाओं का पर्दाफाश अब होने लगा है। स्थानीय लोगों का कहना है कि चोरी की घटनाओं से प्रभावित होने वाले पीड़ितों को भी अब अति सतर्क रहना होगा। ताकि कोई टप्पेबाज अपनी मकसद में कामयाब न होने पाए।

अयाना थाना क्षेत्र के कस्बा निवासी शकुंतला देवी पत्नी संतराम के साथ पकड़े गए टप्पेबाजों ने टप्पेबाजी की थी। लाखों के जेवर को पहले सफाई कराने का हवाला देकर लिया, इसके बाद मौका पाकर भाग निकले थे। पीड़िता के शोर मचाने पर पड़ोस में रहने वाले कुछ लोगों ने शातिरों को दौड़ा लिया था। जिन्हें कुछ दूरी पर जाकर पकड़ा। इसके बाद पुलिस को सूचना दी थी। सीओ अजीतमल प्रदीप

कुमार ने बताया कि भीखेपुर-सेंगरपुर रोड पर मिलक तिराहे समीप से दोनों को पकड़ लिया गया था। वहां खड़ी बाइक से आरोपित भागने की फिराक में थे। जेवरात के साथ-साथ एक तमंचा बरामद हुआ है। पूछताछ में आरोपितों ने नाम व पता बताया। बिहार राज्य के बेगूसराय जनपद के पुरानी मछली मंडी निवासी सिकंदर कुमार पुत्र गनेश साह व बेगूसराय जनपद के थाना डंडारी के गांव कैतरी निवासी कन्हैया पुत्र जवाहर हैं। दोनों खुद को आभूषण बनाने वाले कारीगर भी बताते थे। आरोपितों ने बताया कि उनका नेटवर्क अलग-अलग जिलों में है। कानपुर देहात में भी घटना को अंजाम दे चुके हैं। हालांकि, उन्होंने किसके साथ टप्पेबाजी की, यह नहीं बता सके।

Edited By: Jagran