संवाद सूत्र, फफूंद: अंध विश्वास का खेल लोगों ने सुना तो होगा लेकिन हकीकत में मंगलवार को थाना क्षेत्र के ग्राम महारपुर में देखने को मिला। जहां पर परिजनों ने तांत्रिक के कहने पर शव निकालने के लिए युवक की कब्र खुदवा दी। युवक की एक पखवारा पूर्व सांप के डसने से मौत हो गई थी। जिसे तांत्रिक ¨जदा करने की बात कह रहा था। करीब पंद्रह दिन बाद परिजनों को जानकारी मिली कि याकूबपुर के पास एक तांत्रिक है जो सांप के काटने वालों को ¨जदा कर देता है। परिजन तांत्रिक के पास गये तो तांत्रिक ने परिजनों से कहा अगर आप के पुत्र का शव गला नहीं होगा तो हम जिन्दा कर देंगे। तांत्रिक की बातों में आकर मंगलवार को परिजनों ने जेसीबी मशीन लगवाकर शव खुदवाना शुरू कर दिया। तभी सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने यह सब नजारा देखा तो जानकारी अपने उच्चाधिकारियों को दी और खोदे गये गड्ढे को बंद करवाया।

मालुम हो कि थाना क्षेत्र के ग्राम महारपुर निवासी राम किशोर का पुत्र हरजीत (22 वर्ष) विगत 27 अगस्त को खाना खा कर घर की छत पर लेटा था। तभी रात्रि में जहरीले सांप ने काट लिया। सुबह जब परिजनों ने देखा तो युवक को अस्पताल ले गये। जहां पर डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था। परिजनों ने 29 अगस्त को शव को दफना दिया था। बाद में तांत्रिक द्वारा कहने पर गड्ढा जेसीबी मशीन से खुदवाने लगे थे। यह खबर जब आसपास के ग्रामीणों को लगी तो हजारों की संख्या में ग्रामीण एकत्रित होने लगे। तभी सूचना पाकर पुलिस पहुंच गई।

Posted By: Jagran