संवाद सूत्र, फफूंद: गैल वाटिका गेस्ट हाउस में शनिवार को इफको के तत्वावधान में किसान गोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में सहकारिता से जुड़ी योजनाओं की जानकारी कृषकों को दी गई। साथ ही बताया गया कि किसानों को आत्मनिर्भर बनाना ही सरकार का लक्ष्य है। किसानों की आय को बढ़ाने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राष्ट्रीय सदस्यता अभियान के प्रदेश सह संयोजक गोपाल मोहन शर्मा ने कहा कि केंद्र प्रदेश की सरकार राष्ट्रहित के लिए काम कर रही है। पार्टी के संस्थापकों ने भी अखंड भारत के लिए काम किया। किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं। किसान क्रेडिट कार्ड, सम्मान निधि, सिचाई योजना, मृदा परीक्षण, कृषि यंत्रों पर छूट, सस्ते मूल्य पर खाद बीज की उपलब्धता, बेहद कम ब्याज पर ऋण की सुविधा सहित कई ऐसी योजनाएं हैं। इससे किसानों को लाभ दिया जा रहा है। किसान स्वावलंबी बन सकें इसके लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। इफको के सहायक जिला प्रबंधक अवधेश उपाध्याय ने किसानों को उर्वरक के बारे में जानकारी दी। इस मौके पर नगर पंचायत चेयरमैन प्रतिनिधि अनुराग शुक्ला, कार्यक्रम संयोजक हरि शुक्ला, डा. बबलू शर्मा, प्रधान संघ के पूर्व जिलाध्यक्ष सत्य नारायण दुबे, कृषक राजाराम राजपूत, पूर्व मंडल अध्यक्ष प्रमोद तिवारी, छन्नी शर्मा, रज्जन शर्मा, सत्य नारायण शर्मा आदि मौजूद रहे।

-------------------

केंद्रीय सहकारिता मंत्री ने किसानों को किया जागरूक

संवाद सूत्र, कंचौसी: शनिवार को कृषक सेवा केंद्र मधवापुर में किसानों ने गृहमंत्री केंद्रीय सहकारिता मंत्री अमित शाह का वर्चुअल संबोधन सुना। सहकारिता के विषय में उन्होंने जानकारी दी। साथ ही कहा कि किसान अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। कृषक सेवा केंद्र मधवापुर में एलईडी स्क्रीन के जरिये किसानों ने गृहमंत्री केंद्रीय सहकारिता मंत्री अमित शाह का वर्चुअल संबोधन सुनते हुए उनके द्वारा दी गई जानकारी एक दूसरे से साझा की। किसानों से उन्होंने कहा कि भारत की अर्थ व्यवस्था को मजबूत बनाने में सहकारिता का बड़ा योगदान है। इससे देश की पांच मिलियन अर्थ व्यवस्था का सपना इसके माध्यम से पूरा हो सकता है। इस अवसर पर केंद्र के संचालक श्याम जी मिश्रा, अजीत शुक्ल, रमेश चौहान, सनी दोहरे, यूनुस खान, बबूल सिंह सहित आधा सैकड़ा किसान उपस्थित थे।

Edited By: Jagran