जागरण संवाददाता, औरैया: जिले में एक नवंबर से धान खरीद शुरू होने जा रही है। किसानों को खरीद के दौरान किसी प्रकार की परेशानी न हो, इसके लिए अभी से ही रजिस्ट्रेशन होना शुरू हो गए हैं। इस समय किसानों को आधार कार्ड में मोबाइल नंबर अपडेट कराने में परेशानी आ रही है। किसानों को सहूलियत दिए जाने के लिए 20 पोस्ट आफिस में मोबाइल नंबर अपडेट किए जाने का काम किया जा रहा है। तीनों तहसीलों में अभी तक आधा सैकड़ा से अधिक पंजीकरण किए जा चुके हैं।

धान खरीद को लेकर प्रशासन की ओर से तैयारियां काफी हद तक पूरी कर ली गई हैं। केंद्र प्रभारियों को क्रय केंद्रों पर अभी से ही तैयारियां पूरी कर लिए जाने के निर्देश दिए गए हैं। शासन की ओर से निर्देश दिए गए हैं कि आधार कार्ड पर बगैर मोबाइल नंबर के किसानों का रजिस्ट्रेशन नहीं हो सकेगा। क्योंकि मोबाइल नंबर पर तीन बार वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) आएगा। उसके बाद ही सत्यापन हो सकेगा। धान खरीद शुरू होने से पहले जिम्मेदारों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए जा चुके हैं। उसी आधार पर व्यवस्थाएं दुरुस्त की जा रही हैं। जिला खाद्य विपणन अधिकारी सुधांशु शेखर चौबे ने बताया कि खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में धान विक्रय के लिए किसान पंजीकरण प्रक्रिया आधार आटेंटिकेशन के माध्यम से होनी है, जिसमें पंजीकरण के समय किसानों के आधार में दर्ज मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगी। जिसका प्रयोग कर पंजीकरण प्रक्रिया पूर्ण होगी। ऐसे किसान जिनके आधार में मोबाइल नंबर दर्ज नहीं है या उनका मोबाइल नंबर बदल चुका है, उनकी पंजीकरण प्रक्रिया पूर्ण न होने की दशा में उन्हें क्रय केंद्रों पर धान विक्रय करने में परेशानी हो सकती है।

------------------------

जिला खाद्य विपणन अधिकारी सुधांशु शेखर चौबे ने बताया कि आधार व मोबाइल नंबर अपडेट कराए जाने के लिए 20 पोस्ट आफिस नामित किए गए हैं। जिसमें रोशंगपुर, ककोर बुजुर्ग, इटैली, पसुआ, महू, भाग्यनगर, जुआ, सहायल, बघईपुर शामिल हैं। इसके अलावा घसारा, मसूदपुर, हरदू, पुर्वा जैन, धुपकरी, दिबियापुर, बांधमऊ, रठगांव, पुसौली, भेदपुर, नोगवां हैं। उन्होंने बताया कि अगर किसानों को किसी प्रकार की परेशानी होती है, तो समस्या का निस्तारण हो जाएगा।

Edited By: Jagran