जागरण संवाददाता, औरैया: धान खरीद में अब तक किसानों का भुगतान हुआ है या नहीं इसका सत्यापन कराए जाने के लिए डीएम ने जिला स्तरीय अधिकारियों की सात टीमें बनाई हैं। यह टीमें गांव-गांव जाकर किसानों से उनके भुगतान के बारे में जानकारी करेंगी। साथ ही कर्मचारियों के बारे में पूछताछ करेंगे। दोषी पाए जाने वाले कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

आए दिन मिल रही शिकायतों के चलते डीएम अभिषेक सिंह ने जनपद में सात टीमों का गठन किया है। इसमें एसडीएम, तहसीलदार, मंडी सचिव को शामिल किया गया है। शासन की ओर से इस बार 40 हजार मीट्रिक टन धान खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके लिए 41 क्रय केंद्र खोले गए हैं। धान खरीद केंद्र पर रुपये लिए जाने एवं किसानों का धान न खरीदे जाने की शिकायतें आए दिन मिल रही हैं। इस पर डीएम ने क्रय केंद्रों का सत्यापन कराए जाने के लिए टीमें गठित की हैं। यह टीमें क्रय केंद्र पर पहुंचकर किसानों से उनकी समस्याएं पूछेंगी। बाद में इसका सत्यापन किया जाएगा। इसके अलावा टीमें गांव-गांव जाकर किसानों से उनके धान के भुगतान के संबंध में जानकारी हासिल करेंगी। अगर किसी केंद्र पर कर्मचारी व प्रभारी की लापरवाही पाई जाती है तो उसके खिलाफ यह टीमें रिपोर्ट बनाएगी और डीएम को भेजेगी। रिपोर्ट के आधार पर डीएम की ओर से संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। क्या कहते हैं जिम्मेदार

क्रय केंद्र पर किसानों को किसी प्रकार की परेशानी न हो, इसके लिए डीएम ने सात टीमें गठित कर दी हैं। यह टीमें क्रय केंद्र पहुंचकर सत्यापन करेंगी। दोषी पाए जाने वाले कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सुधांशु शेखर चौबे, डिप्टी एआरएमओ

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस