जागरण संवाददाता, औरैया : खाद्य प्रसंस्करण विभाग की संचालित महात्मा गांधी स्वरोजगार योजना के अंतर्गत गुरुवार को राजकीय फल संरक्षण केंद्र पर एक माह का उद्यमिता विकास प्रशिक्षण शुरू हुआ। सदर ब्लॉक प्रमुख सौरभ भूषण शर्मा ने मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण व दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ किया। प्रतिभागियों को किटें भी वितरित की गईं।

एक माह मे प्रशिक्षण कार्यक्रम में ब्लॉक प्रमुख ने कहा कि सरकार किसानों की आय दोगुना करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसमें खाद्य प्रसंस्करण विभाग की अहम भूमिका है। युवाओं को स्वरोजगार के लिए प्रेरित करने में विभाग का सराहनीय योगदान है। गांवों में आयोजित होने वाले शिविरों से जागरूकता व बेरोजगारी की समस्या का भी समाधान हो सकेगा। केंद्र प्रभारी राजीव शुक्ला ने बताया कि विभिन्न आठ न्याय पंचायतों में दिए गए तीन-तीन दिवसीय जागरूकता शिविरों में से 30 प्रशिक्षार्थियों का चयन किया गया है। इन्हें एक माह का प्रशिक्षण देकर ग्राम स्तर पर उद्योग लगवाए जाएंगे। जिसमें मशीनरी के लिए विभाग 50 फीसद अनुदान अधिकतम एक लाख रुपए अदा करेगा। कृषि विज्ञान केंद्र परवाहा की गृह विज्ञान वैज्ञानिक डॉ. रश्मि यादव ने गांवों में उत्पादित फसलों के आधार पर उद्योग स्थापित करने की सलाह देते हुए आगे बढ़ने को प्रोत्साहित किया। संचालन समाजसेवी अनिल राजपूत ने किया। इस अवसर पर श्याम किशोर तिवारी, गुरमीत सिंह, अशोक अवस्थी व धर्मेंद्र आदि लोग मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस