जागरण संवाददाता, औरैया: कलेक्ट्रेट सभागार में डीएम की अध्यक्षता में शुक्रवार को आइजीआरएस पोर्टल पर लंबित शिकायतों के निस्तारण की प्रगति को लेकर समीक्षा बैठक हुई। प्राप्त होने वाली शिकायतों की विभागवार समीक्षा करते हुए तत्काल निराकरण का निर्देश दिया गया। वहीं बैठक में अनुपस्थित होने पर परियोजना निदेशक डूडा समेत चार अधिकारियों के एक दिन का वेतन काटने की कार्रवाई की गई। इसके अलावा सहायक विकास अधिकारी(एडीओ)अछल्दा को प्रतिकूल प्रविष्टि थमाई गई। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि कोई जिम्मेदार अफसर कार्य के प्रति उदासीन रहेगा तो उसके खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

डीएम सुनील कुमार वर्मा ने समीक्षा बैठक में कहा कि जन सामान्य की शिकायतों का निराकरण सरकार की शीर्ष प्राथमिकताओं में एक है। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता व लापरवाही न बरती जाए। जिला स्तरीय अधिकारी शिकायती पोर्टल आइजीआरएस, मुख्यमंत्री हेल्पलाइन, आनलाइन प्राप्त संदर्भ का निस्तारण में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखें। जिससे शिकायतकर्ता को चक्कर न लगाना पड़े। जन शिकायतों के निस्तारण की कार्यवाही की निर्धारित तिथि तक आख्या अपलोड करें। समीक्षा के दौरान आइजीआरएस पोर्टल पर सहायक विकास अधिकारी अछल्दा के पास 33 शिकायत डिफाल्टर होने पर प्रतिकूल प्रविष्टि दी गई। परियोजना अधिकारी डूडा के पास 28 शिकायत डिफाल्टर होने पर कड़ी चेतावनी दी गई। बैठक में मौजूद मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह प्रतिदिन पोर्टल पर लंबित शिकायतों की समीक्षा करते रहे कोई भी शिकायत डिफाल्टर न होने दें। बैठक में परियोजना अधिकारी डूडा, सहायक आयुक्त व सहायक निबंधक सहकारिता, अधिशासी अभियंता यांत्रिकी के अनुपस्थित होने पर सभी के खिलाफ एक दिन का वेतन काटने की कार्रवाई की गई।

Edited By: Jagran