अमरोहा, जेएनएन: उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की सदस्य राखी त्यागी ने कहा कि महिलाओं से संबंधित प्रकरण जनपद स्तर पर ही निस्तारित किए जाएं। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ एवं कन्या सुमंगला योजना के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए अभियान चलाया जाए ताकि, ज्यादा से ज्यादा लोग योजनाओं का लाभ ले सकें। वह शुक्रवार की सुबह 11 बजे विकास भवन सभागार में आयोजित एक दिवसीय विधिक जागरूकता शिविर/जनसुनवाई कार्यक्रम में बोल रही थीं।

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा महिलाओं के विकास के लिए तमाम योजनाएं चलाई जा रही हैं। आगे बढ़कर महिलाएं उनका लाभ उठाएं। इस दौरान कुछ महिलाओं ने उनके सामने समस्याएं रखीं, जिस पर उन्होंने त्वरित निस्तारण के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। पारिवारिक समस्या,, दहेज से संबंधित, संपत्ति विवाद, यौन उत्पीड़न से संबंधित एवं तलाक, घरेलू हिसा, कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न, भ्रूण हत्या, भारत में महिलाओं की संपत्ति और भरण पोषण अधिकार से संबंधित आदि पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि सरकार महिला कल्याण से संबंधित योजनाओं तमाम योजनाएं चला रही है। लिग भेदभाव पर अनेक कार्यक्रम चला रही है ताकि, समाज में पुरुषों और महिलाओं के साथ समानता का व्यवहार हो सके। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। हर थाने में महिला हेल्प डेस्क बनाई गई है। इसमें महिलाओं की समस्याओं को गंभीरतापूर्वक सुनकर उनका निस्तारण कराया जाता है। महिलाओं की सहायता के लिए आयोग द्वारा हेल्प नंबर जारी किया गया है। जिस पर कॉल कर वह समस्या का बता सकती हैं। इस दौरान न्यायिक अधिकारी आकांक्षा गर्ग, ईशा चौधरी, नगर पालिका चेयरमैन शशि जैन, सीओ हसनपुर श्रेष्ठा ठाकुर, वरिष्ठ परामर्शदाता डॉ. चित्रा सिंह, अधिवक्ता आसिफा आलमी एवं अर्चना सक्सेना, प्रभारी जिला प्रोबेशन अधिकारी दुर्गेश नन्दनी सिंह आदि ने भी अपने विचार रखे। इन नंबरों पर महिलाएं कर सकती हैं शिकायत

यदि किसी महिला की कोई भी समस्या / परेशानी है तो वह टोल फ्री नंबर- 18001805220, वाट्सएप नंबर 6306511708 एवं फोन नंबर- 05222306403 पर बात कर सकती है। अवकाश के दिनों के अतिरिक्त शनिवार एवं रविवार को छोड़कर सुबह दस से शाम पांच बजे तक फोन किया जा सकता है।

Edited By: Jagran