जेएनएन, अमरोहा: जिले में सोमवार को 97 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। इनमें एक महिला स्वास्थ्य कर्मी, चार पुलिस कर्मी शामिल हैं। कोरोना गाइडलाइन के अनुसार स्वास्थ्य विभाग की टीम ने संक्रमितों का इलाज शुरू कर दिया है। 46 लोग इलाज के बाद ठीक हुए हैं। अब जनपद में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 867 से बढ़कर 919 तक पहुंच गया है।

स्वास्थ्य विभाग को मिली रिपोर्ट के अनुसार 97 लोगों में से 93 आरटीपीसीआर, दो एंटीजन व दो ट्रूनेट जांच में संक्रमित मिले हैं। अमरोहा ब्लाक क्षेत्र में सबसे अधिक 25, जोया में 19, गजरौला में 14, हसनपुर में 21, मंडी धनौरा में 13 व गंगेश्वरी क्षेत्र में पांच कोरोना पीड़ित मिले हैं। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा.सतपाल सिंह ने बताया कि संक्रमितों में 33 महिलाएं, एक महिला स्वास्थ्य कर्मी, चार पुलिस कर्मचारी हैं। अब उनके स्वजन व संपर्क में आए लोगों की जांच को नमूने लिए जा रहे हैं। सक्रिय केस 919 हो गए हैं। आज 46 लोग उपचार के बाद स्वस्थ हो गए हैं। कंटेनमेंट जोन की संख्या 319 हो गई है।

घर-घर जाकर करवाया टीकाकरण

अमरोहा: नगर पालिका परिषद द्वारा सोमवार को शहर के विभिन्न वार्डों में घर-घर जाकर लोगों को कोरोना से बचाव का टीका लगाया गया। अधिशासी अधिकारी डा.ब्रजेश कुमार के नेतृत्व में पालिका कर्मी व स्वास्थ्य विभाग की टीम चिन्हित किए गए लोगों के घरों पर गई और टीकाकरण कराया। ईओ के मुताबिक, यह अभियान लगातार चलता रहेगा। 1000 के पार पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा तो बढ़ेंगी पाबंदियां

जासं, अमरोहा: जनपद में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा अगर 1000 के पार पहुंच गया तो कई पाबंदियां लग जाएंगी। एक ओर जहां शादी समारोह में लोगों की संख्या कम हो जाएगी वहीं दूसरी ओर कक्षा दस के सभी शैक्षणिक संस्थानों के खुलने पर भी पाबंदी रहेगी।

जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 919 तक पहुंच गई है। इससे लोग बेचैन हो गए हैं। कोरोना गाइड लाइन के अनुसार अगर उनकी संख्या एक हजार के पार हो गई तो लोगों के सामने तमाम परेशानियां खड़ी हो जाएंगी। कई तरह की पाबंदियों का सामना उनको करना पड़ेगा। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा.एसपी सिंह के मुताबिक कोरोना पीड़ितों की संख्या एक हजार से ज्यादा होने पर शादी समारोह में अधिकतम 100 लोग शामिल हो सकेंगे। कक्षा दस तक के सभी शैक्षणिक संस्थान बंद रहेंगे। रात्रिकालीन क‌र्फ्यू रात दस से सुबह छह बजे तक रहेगा। आईटी एवं आईटिज से संबंधित निजी कंपनियां वर्क फ्राम होम की व्यवस्था को प्रोत्साहित करेंगी। शादी समारोह तथा अन्य आयोजनों में बंद स्थानों पर एक समय में 100 की संख्या से कम लोग ही शिरकत कर सकेंगे। खुले स्थानों पर एक समय में क्षमता से 50 फीसद व्यक्ति ही कोविड प्रोटोकाल के पालन के साथ रह सकेंगे। कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना प्रवेश द्वार पर की जाएगी। होटल व रेस्टोरेंट, हेल्थ क्लब आदि भी पाबंदियों के तहत खुलेंगे।

Edited By: Jagran