जागरण संवाददाता, अमरोहा। Sanskarshala 2022 : दैनिक जागरण संस्कारशाला के माध्यम से बच्चों में संस्कार जगाने की मुहिम पिछले काफी लंबे समय से चल रही है। गुरुवार को शहीद भगत सिंह इंटरनेशनल स्कूल हलपुरा में कार्यक्रम का आयोजन कर बच्चों को संस्कारों का ज्ञान कराया गया। यहां स्कूल की अध्यापिका दीपा सांगवान ने बच्चों को बताया कि संस्कार एक अनमोल धरोहर है।

संस्कारों को जिंदा रखने की अनूठी पहल

वर्तमान में मनुष्य भागा दौड़ की जिंदगी में अपने संस्कारों को भूलता जा रहा है। जागरण संस्कारशाला संस्कारों को जिंदा रखने के लिए अनूठी पहल कर रहा है। उन्होंने कहा कि मदद का एक और बहुत ही मूल्यवान स्रोत जो अक्सर उपयोग किया जाता है। वह है सलाह के माध्यम से व्यक्त किए गए अन्य लोगों का अनुभव।

क्या है दूसरों से लाभ प्राप्त करने की क्षमता

मार्गदर्शन के इस स्रोत का मूल्य मानव जाति के इतिहास में स्पष्ट रूप से देखा जाता है। मनुष्य की श्रेष्ठता बड़े पैमाने पर न केवल अपने स्वयं के अनुभव से बल्कि दूसरों से लाभ प्राप्त करने की क्षमता के कारण है। इस क्षमता के बिना बहुत कम प्रगति होती। ये क्षमता ही आपको हमेशा प्रगति के पथ पर आगे रखती है।

सलाह मार्गदर्शन का पुराना माध्यम

इस तरह के अनुभव का उपयोग या तो प्रत्यक्ष रूप से, दूसरों द्वारा दी गई सलाह के माध्यम से या परोक्ष रूप से इतिहास के ज्ञान को समझकर किया जा सकता है। यद्यपि सलाह मार्गदर्शन का एक पुराना और व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला तरीका है। लेकिन, यह सबसे कारगर साबित होता है।

Edited By: Samanvay Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट