अमरोहा: सैदनगली पुलिस ने चेकिग के दौरान शातिर बदमाश को गिरफ्तार कर डेढ़ महीना पहले डिडौली में कलेक्शन एजेंट से हुई 76 हजार रुपये की लूट की घटना का पर्दाफाश किया है। पकड़े गए बदमाश के खिलाफ अमरोहा, मुरादाबाद व हरियाणा में लूट, हत्या व डकैती के 24 मुकदमे दर्ज हैं। आरोपित से 86 सौ रुपये की नकदी व लैपटॉप भी बरामद किया गया है।

गुरुवार दोपहर एसओ सैदनगली मोहित चौधरी अपने साथ एसआइ प्रवीण कुमार, छत्रपाल सिंह, सिपाही रवि चौधरी, अतुल ठैनुआ, मोनू तोमर व उदयवीर सिंह के साथ ढक्का नगर के पुल पर वाहन चेकिग कर रहे थे। इस दौरान बाइक पर आ रहे दो युवकों को रोका तो वह भागने लगे। पुलिस ने पीछा किया तो एक बदमाश ने फायरिग शुरू कर दी। इस दौरान बदमाशों की बाइक फिसल कर गई। एक बदमाश जंगल में भाग निकला तो दूसरे को पुलिस ने दबोच लिया। उसके पास से तमंचा-कारतूस, 86 सौ रुपये व लैपटॉप बरामद किया है। थाने लाकर आरोपित से पूछताछ की गई तो उसने अपना नाम विजेंद्र सिंह निवासी गांव कथना थाना असमोली जनपद सम्भल बताया। उसने बताया कि डेढ़ महीना पहले अपने साथी के साथ उसने डिडौली कोतवाली क्षेत्र में कलेक्शन एजेंट के साथ दिनदहाड़े 76 हजार रुपये व लैपटॉप लूटा था। बीती छह सितंबर की रात को सैदनगली के गांव जीहल में भैंस चोरी के दौरान अपने साथी फरमान निवासी पीला खादान थाना हयातनगर सम्भल के साथ पुलिस टीम पर फायरिग की थी। इस घटना में सिपाही अतुल ठैनुआ भी घायल हुआ था। इस बारे में एसओ मोहित चौधरी ने बताया कि पकड़ा गया बदमाश विजेंद्र सिंह असमोली के ध्याना गैंग का सदस्य है। उसके खिलाफ अमरोहा, मुरादाबाद व हरियाणा में लूट, हत्या, डकैती समेत 24 मुकदमे दर्ज हैं। उन्होंने बताया कि आरोपित को जेल भेज दिया गया है। उसके फरार साथी की तलाश जारी है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप