अमरोहा, जेएनएन। जंगल के आबादी की ओर भाग रहे जानवर बेहद खतरनाक होते जा रहे हैं। अमरोहा के रजबपुर के बागड़पुर गांव में तेंदुआ ने दिन में गांव के लोगों पर हमला बोल दिया। इस हमला में तीन लोग घायल हैं। इसके बाद ग्रामीणों ने बवाल कर दिया। तेंदुआ आने की सूचना पर वन विभाग के साथ पुलिस की टीमें भी मौके पर पहुंची है। वन विभाग की टीम ने पिंजरा लगाकर तेंदुआ को पकडऩे की तैयारी कर ली है। यहां कॉम्बिंग भी की जा रही है।

अमरोहा के रजबपुर के बागड़पुर में देर रात तेंदुआ आने की सूचना से लोग दहशत में थे। दिन में तेंदुआ खेंतों से आबादी में आ गया। तेंदुआ ने बागड़पुर में प्रदीप सिंह के घर पर बछिया पर हमला कर दिया। इस हमले में बछिया की मौके पर मौत हो गयी। बछिया को भागते देख प्रदीप सिंह के साथ परिवार के लोग भी जाग गए। उस समय बछिया को मार चुका था। प्रदीप सिंह के घर के लोगों ने शोर मचाकर गांव के अन्य लोगों को एकत्र किया। इसके बाद तेंदुआ भाग गया। गांव के लोग रात में दहशत में रहे।

तेंदुआ आज दिन में फिर जंगल से बाहर आ गया। गांव के लोग जब तक पहुंचते तेंदुआ ने होमपाल सिंह निवासी छोटी खजूरी के सिर पर पंजे से वार कर दिया। इसके बाद कब्रिस्तान के पास झाड़ में घुस गया। गांव के लोगों ने झाड़ में आग लगा दी। जहां से तेंदुआ स्वतंत्रवीर के खेत में गुस गया।

गांव वालों ने पुलिस को सूचना दी। इसके साथ ही डीएम व एसडीएम को भी तेंदुआ के आगमन से अवगत कराया गया। वन विभाग की टीम ने मौके पर जाकर स्थिति को संभाला। गुस्साए गांव वालों ने तेंदुआ को पकडऩे की मांग शुरू कर दी।

इन लोगों ने वन क्षेत्राधिकारी हसनपुर सुभाष चौधरी के साथ मारपीट की और उनके कपड़े फाड़े। कुछ लोगों ने उनका मोबाइल भी छीनने का प्रयास किया। इसके बाद कुछ ग्रामीणों ने सुभाष चौधरी को किसी तरह बचाया।

वन क्षेत्राधिकारी सुभाष चौधरी ने बताया कि अमरोहा व धनौरा से भी वन रेंज अधिकारी आ गये हैं। पिंजरा भी मंगाया गया है। अब पिंजरा लगाकर तेंदुआ को किसी भी तरह पकड़ा जाएगा।

एसडीएम सुखवीर सिह ने ग्रामीणों को निर्देश दिया है कि खेतों में चार लोगों की टुकडी साथ जायें। बच्चों को घर से बाहर न निकलने दें। शाम होते ही घरों में वापस लौट आएं। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Edited By: Dharmendra Pandey