अमरोहा : कोरोना काल में स्वास्थ्य अधिकारियों के बीच अंदरखाने चल रही खींचतान पर जिलाधिकारी उमेश मिश्र की नजरें तिरछी हो गई हैं। उन्होंने महकमे की कमान मुख्य विकास अधिकारी चंद्रशेखर शुक्ल को सौंप दी है। गुरुवार को सीडीओ ने सीएमओ ऑफिस में अधिकारियों की बैठक ली। उनके निशाने पर लैब टेक्नीशियन व सहायक रहे। सभी सीएचसी पर दो टेक्नीशियन व दो सहायकों की तैनाती के निर्देश सीएमओ को दिए।

कोविड-19 की दूसरी लहर से हर कोई परेशान है लेकिन, जिले के स्वास्थ्य महकमे के अधिकारियों के बीच आपसी खींचतान चल रही है। इसकी शिकायतें लगातार जिलाधिकारी उमेश मिश्र तक पहुंच रही थीं। कर्मचारियों के किरदार, कौन किसका खास और कौन विरोध में, इसकी भनक भी उनको मिल रही थी। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की इस आपसी टेंशन को समाप्त करने के लिए डीएम ने सीडीओ को पूरे महकमे की जिम्मेदारी सौंप दी है।

कोविड-19 की समीक्षा के साथ-साथ अब मुख्य विकास अधिकारी ने कर्मचारियों की स्थिति का पूरा रिकार्ड खंगालना शुरू कर दिया है। मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय में शाम चार बजे उन्होंने अधिकारियों के साथ बैठक ली। बकौल सीडीओ-जनपद में 38 लैब टेक्नीशियन व सहायक हैं। सीएमओ को निर्देशित किया गया है कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रत्येक सीएचसी पर दो टेक्नीशियन व दो सहायकों को तैनात किया जाए। इसका आदेश तुरंत बनाए जाएं। अब खत्म होगा अटैचमेंट का खेल

अमरोहा: जनपद के स्वास्थ्य विभाग में कर्मचारियों के अटैचमेंट का खेल काफी समय से चल रहा है। बार-बार मामले को उठाया जाता है लेकिन, फिर खामोशी छा जाती है। सीडीओ के हाथों में कमान आते ही जल्द ही उनके अटैचमेंट का खेल खत्म हो जाएगा। इसके अलावा ड्यूटी पर न आने वाले कर्मियों पर भी कार्रवाई होगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप