अमरोहा: गुरुवार सुबह सूखी लकड़ी लेने जंगल गए मजदूर का शव शुक्रवार सुबह आम के बाग में पड़ा मिला। मृतक के चेहरे और शरीर पर चोट के निशान थे। पुलिस ने जांच पड़ताल कर शव को पोस्टमार्टम को भेज दिया है। परिजनों ने हत्या की आशंका जताते हुए अज्ञात के खिलाफ तहरीर दे दी है। घटना नौगांवा सादात थाना क्षेत्र के गांव बीजरा की है। यहां पर किशोरी सिंह का परिवार रहता है। उनका बड़ा बेटा बाबूराम गांव के ही राज मिस्त्री के साथ मजदूरी करता था। उसके परिवार में पत्नी विनीता के अलावा तीन बेटी हैं। बाबूराम गुरुवार सुबह लगभग आठ बजे सूखी लकड़ी लेने के लिए जंगल गया था। दोपहर एक बजे तक वह घर नहीं पहुंचा तो परिजनों को चिता हुई। उन्होंने उसकी तलाश शुरू कर दी। देर शाम परिजनों ने पुलिस को सूचना भी दे दी थी। चौबीस घंटे तक परिजन उसकी तलाश करते रहे, लेकिन बाबूराम के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली। शुक्रवार सुबह लगभग आठ बजे गांव बादशाहपुर में स्थित श्रीराम किसान इंटर कालेज के पास जंगल में उसका शव मिला। परिजन व गांव के लोग उसे तलाश करते हुए वहां पहुंचे थे। बाबूराम का मुंह जमीन में धंसा हुआ था तथा चेहरे और शरीर पर चोट के निशान थे। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। मृतक के पिता किशोरी सिंह और अन्य परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है। पुलिस ने जांच पड़ताल के बाद शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। परिजनों ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराने के लिए तहरीर दे दी है। प्रभारी निरीक्षक अजय कुमार ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी। परिजनों ने अज्ञात के खिलाफ हत्या की तहरीर दी है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप