अमरोहा। हसनपुर क्षेत्र में बदलते मौसम में बुखार व डेंगू का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। शेखुपुर झकड़ी गांव के प्रधान की पत्नी व बेटी समेत पांच लोगों में रविवार को डेंगू की पुष्टि हुई है।

ग्राम पंचायत शेखुपुर झकड़ी के प्रधान पीतम सेन की पत्नी कुसुम देवी, बेटी सोनिका व पुत्र टीटू को पिछले एक सप्ताह से बुखार आ रहा है। हसनपुर के एक निजी अस्पताल में वह तीनों का इलाज करा रहे हैं लेकिन, बुखार कम न होने पर रविवार को चिकित्सक ने जांच कराई तो कुसुम देवी व सोनिका के डेंगू की पुष्टि हुई है। उधर इसी गांव के रामपाल ङ्क्षसह तथा शेरगढ़ गांव निवासी जागन ङ्क्षसह व हुकम ङ्क्षसह के भी डेंगू की पुष्टि हुई है। शनिवार को ङ्क्षसचाई विभाग के अवर अभियंता अशोक कुमार की माता शीला देवी के भी डेंगू की पुष्टि हुई थी। उल्लेखनीय है कि क्षेत्र में बुखार व डेंगू से एक दर्जन से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है लेकिन, चिकित्सा महकमा डेंगू की रोकथाम को कोई ठोस कदम नहीं उठा रहा है। चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अमित कुमार वरू का कहना है कि शीला देवी के डेंगू की पुष्टि हुई थी। निजी अस्पतालों में डेंगू की पुष्टि होने की उन्हें कोई जानकारी नहीं है। वायरल का प्रकोप जरूर चल रहा है। बुखार आने पर जरूरी नहीं की डेंगू ही हो।

डेंगू बेलगाम, स्वास्थ्य महकमा हलकान

जिले में डेंगू आशंकित मरीजों के मिलने का सिलसिला बरकरार है। चार लोगों में और डेंगू के लक्षण पाए गए हैं। जिन्हें जांच के बाद जिला अस्पताल के डेंगू वार्ड में भर्ती कराया गया है। चिकित्सकों ने मरीजों के खून का नमूना लेकर दूसरी जांच के लिए भेजा है।

डेंगू पर अंकुश लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग गांव-गांव मच्छरों का लार्वा खत्म करने के लिए स्प्रे करा रहा है, मगर डेंगू खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक अभी तक डेंगू आशंकित केस 47 मिले हैं। जिसमें दो लोगों को डेंगू की पुष्टि होने की दावेदारी कर रहा है। जबकि हकीकत में जिले में डेंगू आशंकित केसों की संख्या सैकड़ों हो गई है। रविवार को फिर चार डेंगू आशंकित केस मिलने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। जिसमें दो केस जोया विकास खंड के गांव असगरीपुर और बरखेड़ा में मिले हैं। जिसमें चिकित्सकों ने जिला अस्पताल के डेंगू वार्ड में भर्ती कराया है। वहीं गजरौला के नई बस्ती में दो लोगों को जांच में डेंगू आशंकित पाया गया है। जिनका इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। चिकित्सकों ने मरीजों के खून का नमूना लेकर दूसरी जांच के लिए भेजा है। नोडल अधिकारी डॉ. विनोद कुमार ने बताया कि लोगों में जागरूकता का अभाव है। डेंगू के प्रकोप से निपटने के लिए लोगों को सफाई के प्रति जागरूक होने की जरूरत है।

 

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप