अमरोहा, जेएनएन: हसनपुर कोतवाली पुलिस ने 20 हजार के इनामी बदमाश को डोडा चूर्ण के साथ गिरफ्तार किया है। पकड़ा गया आरोपित अनवर अली उर्फ सोनू ग्राम नीलीखेड़ा कोतवाली डिडौली का निवासी है। आरोपित सोनू करोड़ों के गांजा तस्करी के मामले में हसनपुर कोतवाली में पहले से भी वांछित चल रहा था। पुलिस अधीक्षक ने आरोपित पर 20 हजार का इनाम घोषित किया था। उसे एसटीएफ भी तलाश कर रही थी।

शनिवार सुबह मुखबिर की सूचना पर प्रभारी निरीक्षक पीके चौहान ने पुलिस बल के साथ अतरासी अड्डे पर पहुंचकर आरोपित अनवर अली उर्फ सोनू को 20 किलो पांच सौ ग्राम डोडा चूर्ण के साथ गिरफ्तार कर लिया। आरोपित के विरुद्ध संबंधित धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर चालान कर दिया। पुलिस क्षेत्राधिकारी ने सतीश चंद पांडेय ने कोतवाली पहुंचकर एनडीपीएस के मुकदमे में वांछित चल रहे आरोपित से पूछताछ की। प्रभारी निरीक्षक पीके चौहान ने बताया कि बरामद डोडा चूर्ण की कीमत करीब तीन लाख रुपये है। उन्होंने बताया कि मार्च माह में पुलिस ने एक ट्रक में लगभग पौने तीन करोड़ रुपये की कीमत का गांजा पकड़ा था। जिसमें अनवर अली उर्फ सोनू वांछित था। संबंधित धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर आरोपित का चालान कर दिया है। एसओजी टीम ने पकड़ा था तीन करोड़ का गांजा

अमरोहा: बीती दो मार्च को तत्कालीन एसओजी प्रभारी मोहित चौधरी व तत्कालीन हसनपुर प्रभारी निरीक्षक संजय तोमर की टीम ने हसनपुर में कंटेनर में लदा 14 क्विंटल 30 किलो गांजा पकड़ा था। पकड़े गए तीनों युवकों में कलीम तुर्क व रिहान निवासी गांव सीकरी मिलक थाना कुंदरकी जनपद मुरादाबाद तथा सुमित कुमार निवासी नवादा बैन थाना उदवंत नगर जनपद भोजपुर बिहार शामिल थे। जबकि सलीम तुर्क निवासी सीकरी मिलक तथा सरगना अनवर उर्फ सोनू निवासी गांव नीलीखेड़ी थाना डिडौली फरार हो गए थे।

एसटीएफ को भी थी अनवर सोनू की तलाश

दो बार एसटीएफ व अमरोहा पुलिस के हाथों से निकलने वाले अनवर सोनू को आज भी एसटीएफ तलाश कर रही है। क्योंकि 21 नवंबर 2020 को एसटीएफ ने मथुरा में एक ट्रक में 978 किलो गांजा पकड़ा था। दो आरोपित मोईन व रियाजुन निवासी गांव मूंढा इम्मा को गिरफ्तार किया था। बरामद गांजा की कीमत लगभग दो करोड़ रुपये थी। उस समय भी अनवर सोनू वहां से फरार हो गया था। एसटीएफ को भी उसकी तलाश थी।

Edited By: Jagran