मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

अमेठी : जिले के किसानों से बादल रूठ से गये हैं। सोमवार की सुबह आसमान में घने बादल छाये दिखे तो किसानों के चेहरों पर राहत दिखी और बरसात की उम्मीद से चेहरे भी खिले हुए नजर आये, लेकिन दोपहर होते-होते आसमान में छाये बादल बिना बरसात के ही गायब हो गए। आसमान में धूप खिलने के बाद गर्मी से लोग बिलबिला उठे। पूरे दिन गर्मी सभी को हलाकान किए रही।

जिले में बरसात नहीं होने से खेती किसानी का काम गति नहीं पकड़ रहा है। किसान मानसून के इंतजार में हैं पर आसमान में बादल छाने के बाद भी नहीं बरस रहे हैं। किसान मन मोहन ने कहाकि अब बरसात नहीं होने से किसानों के सामने समस्या पैदा होने लगी है। धान की रोपाई का काम शुरू नहीं हो पा रहा है। किसान राम बरन, मुस्तकीम, संजय सिंह व गंगादीन ने कहाकि मौसम बनने के बाद भी जिले में बरसात नहीं हो रही है। नहर व नलकूप भी सूखे पड़े हैं। किसान चाहकर भी पानी के अभाव में खेती किसानी का काम शुरू नहीं कर पा रहे हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप