अमेठी : सालभर बाद आयोजित जिला निगरानी एवं समन्वय समिति की बैठक में सांसद राहुल गांधी काफी आक्रामक नजर आए। यूपीए के कार्यकाल के दौरान शुरू की गई योजनाओं की उन्होंने गहन प्रगति समीक्षा की और उन सब में तेजी लाने के निर्देश दिए। राहुल ने प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) के तहत पिछले दो वित्तीय वर्षो 2015-16 व 2016-17 के तहत एक भी प्रस्ताव न देने पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार के दौरान अमेठी में 775 किमी सड़कों का निर्माण हुआ था। भाजपा सरकार में चार वर्ष में मात्रा 56 किमी सड़क ही बनी है। प्रस्ताव भेजने में हीलाहवाली की गई है। उन्होंने कहा कि वे इसकी जांच कराएंगे। उन्होंने किसानों को परेशान कर रहे आवारा पशुओं के लिए कांजी हाउस बनवाने की भी बात कही।

बैठक में पहुंचते ही अमेठी सांसद एक दिन पहले थौरी-कोटवा मार्ग को लेकर हुई ड्रामेबाजी पर उबल पड़े। उन्होंने कहा कि यह मार्ग कितना अधूरा है। अब तक इसे पूरा क्यों नहीं किया गया। इसके बाद राहुल ने मनरेगा की समीक्षा की। उन्होंने पिछले वित्तीय वर्ष में जिले की मनरेगा की प्रगति पर नाराजगी जाहिर की। राहुल ने योजना के तहत अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वित कराने की बात कही। राहुल ने जिले में केंद्रीय विद्यालय की स्थापना के संबंध में भी प्रगति पूछी। इस पर जिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि केंद्रीय विद्यालय की स्थापना के लिए अमेठी विकास खंड के ताला में जमीन चिह्नित की गई है। इस पर राहुल तल्ख नजर आए। उन्होंने कहा कि अब तक जमीन फाइनल क्यों नहीं की गई। एक दिन पहले किसान चौपाल के दौरान किसानों द्वारा आवारा पशुओं से होने वाली दिक्कतों का मुद्दा राहुल के जेहन में था। उन्होंने जिलाधिकारी से कांजी हाउस बनवाने की बात कही। बैठक में जिलाधिकारी शकुंतला गौतम, पुलिस अधीक्षक केके गहलोत, प्रभारी जिला विकास अधिकारी वंशीधर सरोज, जिला पंचायती राज अधिकारी बनवारी सिंह के साथ ही जिलास्तरीय अधिकारी शामिल रहे। वहीं, डा. अमिता सिंह, कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह, पूर्व विधायक राधेश्याम धोबी भी बैठक में मौजूद रहे। सांसद निधि से बालिका इंटर कालेजों में आरओ संयंत्र

सांसद राहुल गांधी ने अपनी निधि से जिले के सभी बालिका इंटर कालेजों में आरओ युक्त पेयजल उपलब्ध कराने की बात कही। उन्होंने बालिका इंटर कालेजों के शौचालयों पर पानी की टंकी की भी व्यवस्था करने की बात कही। मोबाइल ट्रांसफार्मर देंगे राहुल

सांसद ने अपनी निधि से 63 केबीए के पांच मोबाइल ट्रांसफार्मर देने की भी बात कही। किसी भी क्षेत्र में ट्रांसफार्मर खराब होने पर उन्हें लगवा दिया जाएगा। बाद में नया ट्रांसफार्मर आने पर उन्हें हटा लिया जाएगा। इससे ट्रांसफार्मर बदलने के दौरान लोगों को होने वाली बिजली समस्या से निजात मिल सकेगी। भाजपा-सपा के विधायक नहीं आए

बैठक में जगदीशपुर विधायक व राज्यमंत्री सुरेश पासी, अमेठी विधायक गरिमा सिंह, गौरीगंज सपा विधायक राकेश प्रताप सिंह, तिलोई विधायक मयंकेश्वर शरण सिंह मौजूद नहीं रहे। इसके साथ ही जिला पंचायत अध्यक्ष शिव कली मौर्या, नगर पालिका अध्यक्ष जायस, नगर पालिका गौरीगंज भी बैठक में नहीं शामिल हुए। तिलोई विधायक के प्रतिनिधि बैठक में जरूर मौजूद रहे।

Posted By: Jagran