अमेठी : लेखपाल व प्रशासन के बीच मामला तूल पकड़ता जा रहा है, जहां जिला प्रशासन ने एस्मा के तहत नोटिस जारी कर काम पर लौटने की बात कहीं तो वहीं मागों को लेकर जिद पर अड़े लेखपालों ने भी शासनादेश जारी होने तक कलम बंद हड़ताल जारी रखने को कहा।

कलेक्ट्रेट परिसर में धरना प्रदर्शन कर रहे लेखपालों को काम पर वापस लौटने के लिए उप जिलाधिकारी गौरीगंज डा. अर्चना द्विवेदी वार्ता की। उप जिलाधिकारी ने लेखपालों से कहा कि मांगों के मुताबिक आधार भूत सुविधायें जैसे भवन, फर्नीचर, शौचालय आदि की व्यवस्था हो रही है। ऐसे में जनहित को देखते हुए सभी लोग काम पर वापस लौटे, किंतु जिद पर अड़े लेखपालों ने कहा कि इस बार हम लोग बिना शासनादेश जारी हुए हड़ताल खत्म नहीं करेंगे। हर बार लेखपालों को आश्वासन दिया जाता है, लेकिन समय के साथ सब भूल जाते है। लेखपाल संघ जिलाध्यक्ष राजेंद्र कुमार तिवारी ने कहा कि जब तक वेतन विसंगति, पेंशन विसंगति, भत्ते में वृद्धि समेत राजस्व उप निरीक्षक सेवा नियमावली कैबिनेट में पारित नहीं हो जाता है। तब तक पूरे जिले के लेखपाल कलम बंद हड़ताल करेंगे। धरना प्रदर्शन में जिला मंत्री राकेश कुमार गुप्ता, नितिन त्रिपाठी, रीता श्रीवास्तव, ओम प्रकाश विश्वकर्मा, अमर नाथ तिवारी, मनोज गौतम, गोविंद तिवारी, उग्रसेन सिंह, अशोक सिंह, महेंद्र शुक्ल समेत जिले भर के लेखपाल मौजूद रहे।

By Jagran