अमेठी : रणवीर रणंजय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में विज्ञान संकाय द्वारा बीएससी प्रथम वर्ष के छात्रों का सम्मान समारोह आयोजित किया गया। सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. त्रिवेणी सिंह ने कहा कि इस वर्ष का परीक्षा परिणाम ऐतिहासिक रहा। लॉकडाउन के पूर्व परीक्षा संपन्न हो चुकी थी।

इस वर्ष बीएससी प्रथम वर्ष का परीक्षा परिणाम 88 फीसद अधिक रहा। 84 फीसद अंक प्राप्त कर छात्र धीरज कुमार यादव ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। द्वितीय स्थान पर आदित्य सिंह रहे। उन्हें 81 फीसद अंक मिले। तीसरे स्थान स्थान पर ज्योति मौर्या रहीं। उन्हें 80.5 फीसद अंक मिला। चौथे नंबर पर कविता मौर्या और पांचवें नंबर पर अंजली मौर्या रहीं। छात्रों व शिक्षकों की मेहनत का परिणाम है कि आज हमारे बच्चों ने विश्वविद्यालय में अपना परचम लहराया है। जिन छात्रों को किसी कारणवश कम अंक हासिल हुआ है। वह और परिश्रम करे। उनकी भी मेहनत रंग लाएगी। महाविद्यालय के अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. संजय सिंह ने कहा कि सभी मेधावियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना कि आगे चलकर वह अमेठी का नाम रोशन करें। महाविद्यालय की उपाध्यक्ष व पूर्व प्राविधिक शिक्षा मंत्री डॉ. अमीता सिंह ने सभी मेधावी छात्र-छात्राओं को सफलता हेतु बधाई दी। कहा कि आरआरपीजी कॉलेज के विज्ञान विषय के छात्र समूचे देश में अपना स्थान बनाए हैं। कोई विज्ञानी तो कोई डॉक्टर बनकर लोगों की सेवा कर रहा है। उन्होंने सभी छात्रों के उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। डॉ. राधेश्याम तिवारी ने अपने पुराने दिनों के अनुभव को साझा करते हुए कहा कि सम्मानित छात्र महाविद्यालय एवं विश्वविद्यालय का नाम भविष्य में अवश्य रोशन करेंगे। अतिथियों का स्वागत डॉ. अरविद कुमार सिंह ने किया। आभार डॉ. अनूप कुमार सिंह ने किया। सम्मान समारोह में डॉ. अक्षयवर नाथ तिवारी, डॉ. रामसुंदर यादव,डॉ. ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह,डॉ. मलखान सिंह,डॉ. अजय कुमार सिंह,डॉ. आदित्य बहादुर सिंह,डॉ. निधि सिंह,डॉ. शिखा शुक्ला,डॉ. वीरेंद्र बहादुर सिंह, डॉ. योगाचंल सिंह,डॉ. मानवेंद्र प्रताप सिंह,अनुराग प्रताप सिंह सहित शिक्षक एवं छात्र-छात्राएं मौजूद रहीं।

Edited By: Jagran